ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
सुरक्षा को दरकिनार कर एनसीएल निगाही में हो रही नाला व नाली सफाई
January 4, 2020 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी


सफाईकर्मियों को नहीं प्रदान किया गया जूता, ग्लब्स व मास्क

बैढ़न(सिंगरौली)। जिला मुख्यालय सिंगरौली से मात्र ५ किलोमीटर दूर एनसीएल के निगाही परियोजना में  ठेकेदार द्वारा नाली तथा नाला की सफाई का कार्य करवाया जा रहा है। सफाई के दौरान सफाईकर्मियों की सुरक्षा हेतु किसी भी तरह का जूता, ग्लब्स व मास्क उन्हें प्रदान नहीं किया गया है। सफाईकर्मियों की जान के साथ ठेेकेदार द्वारा खिलवाड़ किया जा रहा है। 
केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा देशभर में सफाईकर्मियों के साथ सुरक्षा को ध्यान में न रखने के कारण हो रही दुर्घटनाओं को कम करने के लिए कई कदम उठाये जा रहे हैं। सफाईकर्मियों की सुरक्षा के लिए सफाई के पहले उन्हें सुरक्षा के लिए जूता, ग्लब्स व मास्क तथा अन्य सुरक्षा के संसाधन उपलब्ध कराये जाते हैं लेकिन एनसीएल के निगाही परियोजना में नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ायी जा रही है। ऐसा भी नहीं कि एनसीएल के आला अधिकारियों की इसकी जानकारी नहीं है, जानकारी भी है लेकिन जानकर भी एनसीएल के अधिकारी अनजान बने हुये हैं।  
सफाई कार्य में लगे सफाइकर्मी विक्रम व महिला सफाईकर्मी मंशी सहित अन्य सफाईकर्मियों ने  बताया कि एनसीएल के अंतर्गत कार्य कर रहे पाण्डेय ठेकेदार द्वारा उक्त कार्य कराया जा रहा है ठेकेदार द्वारा उन्हें न तो जूता दिया गया है और न ही मास्क व ग्लब्स दिया गया है। कार्य के एवज में रोजाना उन्हें मात्र २५० रूपये दिये जाते हैं। ठेकेदार द्वारा जल्द काम खत्म करने हेतु दबाव बनाया जाता है। सफाईकर्मियों की सुरक्षा का ध्यान ठेकेदार द्वारा नहीं दिया जाता। 
गौरतलब है कि नाला सफाई के दौरान नाले में कांच आदि के टुकड़े रहते हंै जिससे सफाईकर्मी घायल हो जाते हैं, नालों की दुर्गन्ध में काम करने वालों को  संक्रमण का खतरा होता है जिस कारण उन्हें ग्लब्स व मास्क दिया जाता है जो ठेकेदार व एनसीएल द्वारा प्रदान नहीं किया गया है। गरीब सफाईकर्मी पेट की आग बुझाने के लिए जान का खतरा होने के बावजूद काम करने को मजबूर हैं।