ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
सोशल मीडिया में प्रसारित फोटो के आधार पर पिता द्वारा मृत घोषित लड़की को सिंगरौली पुलिस ने जीवित खोजा
December 22, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी

बैढ़न(सिंगरौली)। सोशल मीडिया में मृत महिला तथा एक बालिका की मृत तस्वीर देखकर विगत १७दिसम्बर को महिला के पिता जगतलाल जायसवाल द्वारा थाना माड़ा में अपनी पुत्री तथा पोती की हत्या की शिकायत दर्ज करायी थी जिसपर सिंगरौली पुलिस ने सायबर सेल की मदद से शिकायतकर्ता की पुत्री तथा उसकी बच्ची को जीवित हालत में खोज निकाला। मामले का खुलासा कोतवाली वैढ़न में पुलिस अधीक्षक सिंगरौली अभिजीत रंजन ने किया। 
पुलिस अधीक्षक ने पत्रकारों से मुखातिब होते हुये मामले के संबंध में बताया कि ग्राम करामी निवासी मंजू जासवाल पिता जगतलाल जायसवाल उम्र २५ वर्ष निवासी ग्राम करामी थाना माड़ा जिला सिंगरौली की कीरबन ढा़ई माह पूर्व से अपनी पुत्री खुशबू जासवाल उम्र करीबन ५ वर्ष को लेकर घर से बिना बताये गायब हो गयी थी इसी बीच कुछ दिन पर्वू सोशल मीडिया में एक मृत महिला का छायाचित्र प्रकाशित होने पर लड़की के पिता जगतलाल जायसवाल द्वारा थाना माड़ा जाकर लड़की मंजू के $गुम होने तथा उसकी मौत की जानकारी सोशल मीडिया के माघ्यम से होने कहां मृत्यु हुई इसकी जानकारी ना होना बताये जाने पर माड़ा थाना में गुम इंशान क्रमांक ३६/१९ दिनांक १७/१२/१९ कायम कर जांच में लिया गया। चूंकि पिता द्वारा मृत महिला की फोटो देखकर अपनी पुत्री होना ताया गया था तथा महिला के गले में धारदार हथियार की चोट थी पुलिस द्वारा इस घटना को चुनौती के रूप में लेते हुये पुलिस अधीक्षक सिंगरौली अभिजीत रंजन द्वारा तत्काल अति. पुलिस अधीक्षक प्रदीप शैण्डे, एसडीओपी मोरवा के.एस.द्विवेदी एवं थाना प्रभारी माड़ा एवं स्टाफ को लड़की की पतासाजी करने हेतु निर्देशित किया गया टीम गठित की गयी तथा टीम के सहयोग हेतु सायबर सेल सिंगरौली के स्टाफ विजय खरे एवं सौबाल वर्मा को भी टीम के साथ लगाया गया जिस पर पुलिस द्वारा तत्परता से पड़ताल की गयी पड़ताल में पाया गया कि मंजू जायसवाल की शादी करीबन ०८ वर्ष पूर्व संतोष जायसवाल निवासी भाऊखाड़ के साथ हुयी थी किन्तु करीबन ३-४ वर्ष पूर्व मंजू जासवाल एवं संतोष जायसवाल के आपसी संबंध खराब हो गये इसी बीच मंजू का राम प्रकाश साकेत निवासी ग्राम भाऊखाड से प्रे्रम संबंध बन गया था मंजू का राम प्रकाश से प्रेम संबंध हो जाने तथा राम प्रकाश के पूर्व से विवाहित होने से एवं विन्ध्यनगर में रहने से राम प्रकाश द्वारा उसकी पत्नी को जानकारी ना हो इसलिए मंजू जायसवाल को गहिलगढ़ में कमरा दिलवाकर रख लिया गया था। मंजू जायसवाल के पते की जानकारी परिजनों को नहीं हो इसलिए इस बीच घर से वापस आने पर मंजू द्वारा अपने किसी परिचित को फोन आदि नहीं किया गया। पुलिस द्वारा महत्वपूर्ण सनसनीखेज क्रम में आयी रिपेार्ट को बहुत ही तत्परता पूर्वक कार्यवाही करते हुय पड़ताल की जाकर मंजू जायसवाल उसकी पुत्री खुशबू जायसवाल एवं राम प्रकाश साकेत को खोज निकाला गया है। 
उक्त कार्यवाही में एसडीओपी मोरवा कृपाशंकर द्विवेदी, थाना प्रभारी कोतवाली अरूण पाण्डेय, उप निरी. राकेश सिंह थाना माड़ा, प्रआर गुलाब प्रसाद थाना माड़ा, आर.आलोक चतुर्वेदी थाना माड़ा, अनीस सिंह थाना माड़ा, राहुल सिंह थाना माड़ा, मआर किरण वैश्य, आर. किशन, थाना विन्ध्यनगर आर. विजय खरे, सायबर सेल, सौबल वर्मा सायबर सेल, चालक रामचरण की महत्वपूर्ण भूमिका रही।