ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
शीतलहर की चपेट में मध्य प्रदेश 
December 18, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश


- दतिया में दर्ज किया गया इस सीजन का सबसे कम तापमान, राजधानी में छाया कोहरा
भोपाल । उत्तरी भारत से आने वाली ठंडी हवाओं ने पूरे मध्यप्रदेश को शीतलहर की चपेट में ले लिया है। मप्र के 25 जिलों में तापमान 10 डिग्री से नीचे पहुंच गया है। इसमें सबसे कम न्यूनतम तापमान दतिया में 4.1 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। राजधानी भोपाल में न्यूनतम तापमान 8.2 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 2.8 डिग्री कम है। 
मौसम विभाग के अनुसार, जम्मू कश्मीर और हिमाचल में हो रही बर्फबारी से ठंडी हवाएं आ रही हैं। इसीलिए दिन और रात के तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। विभाग ने अगले कुछ दिन यही स्थिति बने रहने की संभावना व्यक्त की है। हालांकि, बुधवार को दिन में तापमान में कुछ बढ़ोतरी दर्ज की गई। दिन में धूप भी निकली जिससे कड़ाके की ठंड से कुछ राहत भी मिली। 
मौसम विभाग के अनुसार, सागर संभाग तीव्र शीत लहर एवं शीतल दिन के प्रभाव में रहा। नरसिंहपुर, भोपाल, सागर, रतलाम, राजगढ़, धार, शाजापुर, इंदौर, उज्जैन दतिया, ग्वालियर एवं श्योपुरकलां जिलों में तीव्र शीतल दिन तथा टीकमगढ़, बैतूल, खजुराहो, सतना एवं गुना में शीतल दिन रहा। उत्तर और उत्तर पश्चिम भारत के बाद, कोल्ड डे की स्थिति ने मध्य प्रदेश सहित मध्य भारत के कुछ हिस्सों को भी जकड़ लिया है। 
सुबह छाया रहा कोहरा
मध्य प्रदेश के विभिन्न भागों में मंगलवार रात से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। इससे ठंड के साथ ही कोहरे का असर सुबह के समय देखा गया। सुबह कोहरे के कारण दृश्यता लगभग 100 मीटर ही थी, जो समय के साथ स्पष्ट होती गई। रात के तापमान में भी पारा काफी नीचे उतर गया। 
विंड चिल रहेगी प्रभावी
अगले 24 से 48 घंटों के दौरान मध्य भारत में न्यूनतम तापमान में और गिरावट आएगी, जिससे क्षेत्र के कुछ और हिस्सों में शीत लहर की स्थिति शुरू हो जाएगी। आने वाले दिनों में विंड चिल भी अधिक प्रभावी रहेगा। मध्यप्रदेश के कई क्षेत्रों में कोहरे की परत एक बड़े क्षेत्र तक फैल सकती है।
प्रदेश में सबसे कम तापमान
दतिया ४.१
सागर    ४.८
श्योपुरकलां ५.४
गुना         ५.६
ग्वालियर ५.८
नौगांव ६.२
टीकमगढ़ ६.४
राजगढ़ ६.५
दमोह ७.५