ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
शरणार्थी और घुसपैठियों में अंतर समझना होगा : डॉ. रमन सिंह
January 7, 2020 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश


धार । हमें शरणार्थियों और घुसपैठियों में अंतर समझना होगा। सीएए में शरणार्थी और एनपीआर में घुसपैठियों का मामला है। इन दोनों को जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धार्मिक आधार पर प्रताडित हो रहे अल्पसंख्यकों के लिए मानवीय पहलू देखकर नागरिकता देने के लिए इससे पहले भी कानून में संशोधन हुए हैं। लेकिन कभी भी राजनैतिक विरोध नहीं हुआ। लेकिन अब विपक्ष हर निर्णय पर सिर्फ इसलिए विरोध कर रहा है क्योंकि उसे अपना जनाधार खत्म होते दिखाई दे रहा है। यह बात भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व छत्तीसगढ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने मंगलवार को धार में प्रबुद्धजन संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कही।
डॉ. रमन सिंह ने धार में प्रबुद्धजन सम्मेलन को संबोधित करते हुए नागरिकों को नागरिकता संशोधन कानून की सच्चाई से अवगत कराते हुए विपक्षी दलों द्वारा फैलाए जा रहे भ्रम की जानकारी दी। संगोष्ठी को पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष, वरिष्ठ नेता विक्रम वर्मा ने भी संबोधित किया। पार्टी की प्रदेश उपाध्यक्ष सुश्री उषा ठाकुर, श्रीमती रंजना बघेल, जिलाध्यक्ष राज बर्फा, विधायक श्रीमती नीना वर्मा,पूर्व सांसद सावित्री ठाकुर, पूर्व विधायक खेमराज पाटीदार, कालू सिंह ठाकुर, वेल सिंह भूरिया,  उमेश गुप्ता, मनोज सोमानी, ज्ञानेंद्र त्रिपाठी मंचासीन थे।
-नकारात्मकता फैलाना कांग्रेस का एकमात्र उद्देश्य
डॉ. सिंह ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून देश के लिए कोई नया नहीं है। कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों में भी कानून में संशोधन हुए है। कांग्रेस नेताओं के नागरिकता कानून के समर्थन में बहुत वक्तव्य है, लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने कभी भी राजनीति से प्रेरित होकर विरोध नहीं किया। सभी जानते है कि पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में रह रहे अल्पसंख्यकों पर वहां जुल्म और अत्याचार हो रहे है, वे मदद के लिए भारत की ओर देखते है। उनका न सिर्फ सहयोग करना भारत का कर्त्तव्य है। महात्मा गांधीजी ने भी इस बात का उल्लेख किया था कि पाकिस्तान में प्रताडित हो रहे अल्पसंख्यकों की मदद की जाना चाहिए। डॉ. सिंह ने कहा कि कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी के हर उस काम का विरोध करती है, जिसे जनहित में लिया गया है। धारा 370, राम मंदिर ऐसे ऐतिहासिक निर्णय है जिसे देश ही नहीं विश्व की जनता ने समर्थन किया है। कांग्रेस इसका विरोध नहीं कर पायी और इसलिए वह नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर अपनी खीज उतार रही है। उन्होंने कहा कि विपक्ष का एकमात्र काम सिर्फ नकारात्मकता फैलाना है।
-जनजागरण अभियान का हिस्सा बने हर नागरिक - विक्रम वर्मा
पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व वरिष्ठ नेता विक्रम वर्मा ने कहा कि मोदी सरकार की लोकप्रियता और ऐतिहासिक निर्णयों से कांग्रेस सहित सारे विपक्षी दल घबराए हुए है। तुष्टीकरण की राजनीति से प्रेरित होकर कांग्रेस दुष्प्रचार के अभियान में जुटी हुई है। उन्होंने कहा कि सीएए में जिन बातों का उल्लेख ही नहीं है कांग्रेस उसे कानून का हिस्सा बता रही है। हमें सजग और सतर्क होकर जनता तक कानून की सच्चाई पहुंचानी है। उन्होंने कहा कि जनजागरण अभियान में हर नागरिक को अपनी हिस्सेदारी करनी है और विपक्ष को कडा जवाब देना है।