ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
शहर की स्वच्छता में छात्रो की भागीदारी महत्वपूर्ण: कलेक्टर
December 19, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी


स्वच्छता सर्वेक्षण में आप सबके प्रयासो से हम होगो अव्वल स्थान पर: केवीएस चौधरी
वैढ़न,सिंगरौली। कलेक्टर श्री केवीएस चौधरी के द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में नगर निगम सिंगरौली को देश एवं प्रदेश में उतकृष्ट स्थान प्राप्त करने के लिए अपना संक्रिय सहयोग प्रदान किया जा रहा है।कलेक्टर के द्वारा नगर निगम के अधिकारियों की बैठक आयोजित कर स्वच्छता सर्वेक्षण के तहत शहर की साफ-सफाई के साथ  ही स्वच्छता के सभी पैरामीटरो शत प्रतिशत पूर्ण करने हेतु आवश्यक मार्गदर्शन भी दिया जा रहा है। 
     इसी क्रम में कलेक्टर एवं  नगर निगम के आयुक्त शिवेन्द्र सिंह के द्वारा औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान पचौर में आयोजित स्वच्छता कार्यक्रम में सम्मलित हुये। कलेक्टर श्री चौधरी के द्वारा उपस्थित छात्रो को संबोधित करते हुये कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के तहत शहर को नई उचाईयो तक ले जाने हेतु आप सबके साथ ही आपके अभिभावको की अहम भागीदारी होगी। शहर के कचरे प्रकार एवं उसके पृथकीकरण के बारे विस्तार से चर्चा करते हुयें कलेक्टर ने कहा कि सूखा कचरा एवं गीला कचारा अलग अलग डस्टबीन में रखें। साथ ही अपने मोहल्ले के अन्य लोगो को प्रेरित करे। उन्होने  नगर निगम कचरा संग्रहण वाहन में ही कचरे डालने हेतु प्रेरित किया।
     कलेक्टर ने कहा कि आप के साथ ही प्रत्येक शहर वासियो से सवाल पूछे जा सकते है कि क्या आप जानते है कि आपका शहर स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में भागीदारी कर रहा है यदि आपने हां कहा तो सर्वेक्षण में सौ अंक प्राप्त होगे। आप शहर में अपने आस पास की स्वच्छता को अपने पिछले छ: महिने के अनुभव जो निगम द्वारा साफ सफाई की जा रही उसके संबंध मे यदि संतुष्टि पूर्वक जवाब देगे तो दौ सौ अंक प्राप्त होंगे। वही शहर में सर्वजनिक एवं व्यावसायिक क्षेत्र के पिछले छ: महिने का अनुभव साझा करने पर भी दौ सौ अंक प्राप्त होगे। कलेक्टर ने बताया कि सूखे एवं गीले कचरे का संग्रहण अलग अलग करने की विधि से अवगत कराने पर भी नगर निगम को दो सौ अंक प्राप्त होगे। साथ ही यह भी पूछा जा सकता है कि आपके शहर मे सड़को के डिवाईडर, पौधो या हरी घास से ढके है इसका उत्तर अगर हां मे होगा तो सौ अंक प्राप्त होगा। कलेक्टर ने बताया कि शहर के सर्वजनिक शौचालय की स्वच्छता को अपने पिछले छ: महिने के अनुभव के आधार पर साफ सफाई के संबंध में संतुष्टि पूर्वक उत्तर देने परं भी दो सौ अंक प्राप्त होगे।
      कलेक्टर ने कहा कि शहर को खुले में शौच मुक्त जीएफसी, कचरा मुक्त की जानकारी संतोश जनक बताने पर सौ अंक प्राप्त होगा। उन्होने ने कहा कि इन मापदंण्डो की हर शहरवासी को जानकारी होना आवश्यक है तथा आप सब शहर को साफ सुथरा रखने में अपना सुझाव दे सकते है। कलेक्टर इस कार्य में सभी सहभागी बनने की अपील की। वही नगर निगम आयुक्त के द्वारा विस्तार पूर्वक नगर निगम द्वारा स्वच्छता के संबंध में किये गये कार्यो के साथ देश एवं प्रदेश स्तर पर प्राप्त होने वाली रैकिंग के संबंध में अवगत कराया गया। कार्यक्रम अंत में स्वच्छता शपथ दिलाई गई इस अवसर पर नगर निगम के उपायुक्त आईडी सिंह, कार्यपालन यंत्री व्हीपी उपाध्याय, राजस्व अधिकारी आरपी वैश्य, स्वच्छता समन्यवय अमित सिंह, प्रचार्य आईटीआई एनके पटेल, सीपी त्रिपाठी, अशीष शुक्ला, रावेन्द्र सिंह, सहित बड़ी मात्रा में छात्र छत्राये उपस्थित रहे।