ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
सेवादल के शिविर में बंटा RSS और वीर सावरकर पर साहित्य, तो नाराज़ हो गयी BJP
January 2, 2020 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश

भोपाल.राजधानी भोपाल में चल रहे अखिल भारतीय कांग्रेस सेवा दल के राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर ​में बीजेपी, आरएसएस (RSS) और वीर सावरकर  से जुड़े साहित्य को लेकर विवाद हो गया है. इसमें RSS को नाज़ीवादी और फासीवादी बताया गया है. इन तीनों के लिए जो लिखा गया है वो बीजेपी (BJP) को नागवार गुजर रहा है. लेकिन कांग्रेस कह रही है कि यही सच है जो वो जनता को बताएगी.बीजेपी इस साहित्य को लेकर कांग्रेस पर निशाना साध रही है, तो कांग्रेस नेता इस साहित्य को सही बता रहे हैं.कांग्रेस नेताओं का कहना है कि कोई गलत जानकारी सेवा दल के कार्यकर्ताओं को नहीं दी गई.जो सच्चाई है, जो हकीकत है, वही उन्हें बताया जा रहा है. कार्यकर्ता यही जानकारी जनता को देंगे.भोपाल के बैरागढ़ में कांग्रेस सेवा दल का राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर गुरुवार से शुरू हुआ. इसमें कार्यकर्ताओं को बीजेपी, आरएसएस और सावरकर से जुड़ा साहित्य बांटा गया.'आरएसएस और बीजेपी, कुछ तथ्य और जानकारी' और दूसरी किताब वीर सावरकर कितने वीर ? बांटी गयीं. इनमें बताया गया कि आरएसएस ने हिटलर के नाजीवाद और मुसोलिनी के फासीवाद से प्रेरणा ली है. नेताजी बोस की आजाद हिंद फौज के खिलाफ आरएसएस और हिंदू महासभा की भूमिका का भी जिक्र किया गया.वीर सावरकर के बारे में भी कई विवादित बातें लिखी गयी हैं.

कार्यकर्ताओं को पप्पू बना रही है कांग्रेस-बीजेपी

सेवादल शिविर में इस तरह की सामग्री बांटने की ख़बर जैसे ही बीजेपी तक पहुंची, पार्टी नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया देना शुरू कर दिया. बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा, कांग्रेस अपने लोगों को गलत जानकारी, गलत तथ्य पढ़ाती है. वो अपने लोगों को पप्पू बना रहे हैं.संघ तीस या चालीस के दशक में नहीं, 1925 में बन गया था.सभी लोगा राहुलजी की बुद्धि पर चलते हैं.इन्हें सही जानकारी जुटाना चाहिए.उन्होंने आगे कहा सावरकर जी का डाक टिकिट तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने जारी किया था. उन्होंने सावरकर को आजादी का योद्धा बताया था. कांग्रेस के आज के नेता अपनी नेता स्व. इंदिरा गांधी के साथ खड़े हैं.अब कांग्रेस वामपंथियों के साथ खड़ी है.ये कांग्रेस असली कांग्रेस नहीं है.तथ्यों को तोड़कर पेश करती है.इन्हें शर्म करना चाहिए.

सच्चाई को जनता तक पहुंचाएंगे-कांग्रेस
बीजेपी नेता तथ्यों से छेड़छाड़ करने की बात कह रहे हैं, तो कांग्रेस नेताओं का कहना है वो बीजेपी और आरएसएस की सच्चाई जनता को बताएंगे. जनता को पता होना चाहिए की बीजेपी और आरएसएस की क्या सच्चाई है.वरिष्ठ कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल ने कहा शिवर में कोई विवादित साहित्य नहीं बांटा गया.जो सच्चाई थी वो सेवा दल कार्यकर्ताओं को बतायी गयी. उन्हें जानकारी दी गई और यही जानकारी कार्यकर्ता जनता के बीच जाकर बताएंगे. आरएसएस सांप्रदियकता फैलाने के अलावा कोई सीख नहीं देती है.आरएसएस जहर फैलाने का काम करती है.यही जानकारी किताबों के माध्मय से प्रदेश की जनता तक पहुंचाई जा रही है.