ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
सीएए पर लोगों को गुमराह कर कांग्रेस-आप ने दिल्ली को दंगों की आग में झोंका : शाह
January 5, 2020 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY


नई दिल्ली। झारखंड की सत्ता से बेदखल होने के बाद भाजपा ने अब दिल्ली दिल्ली की गद्दी पर अपनी नजरें गड़ा दी हैं। इस क्रम में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए इंदिरा गांधी स्टेडियम में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान वह दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और उनके नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (आप) पर जमकर बरसे। उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के मुद्दे पर कांग्रेस को भी घेरा। शाह ने कहा राहुल और प्रियंका ने सीएए पर जनता को गुमराह किया है। जिससे दंगे भड़के, करोड़ों की संपत्ति का नुकसान हुआ और कई लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।
शाह ने सीएए के विरोध में दिल्ली में प्रदर्शनों के दौरान फैली हिंसा के लिए कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को दोषी ठहराया। उन्होंने कहा सीएए को लेकर जनता को गुमराह करने का काम किया गया है। कांग्रेस पार्टी के राहुल बाबा और प्रियंका वाड्रा ने सीएए पर जनता को गुमराह कर दंगे कराने का काम किया है। सन 1984 में सिखों का नरसंहार हुआ। कई सिख भाई-बहनों का बेरहमी से कत्लेआम कर दिया गया। कांग्रेस की सरकारें उनके घावों पर मरहम नहीं लगाती थी। मोदी सरकार ने हर पीड़ित को 5-5 लाख रुपए का मुआवजा दिया और जो दोषी थे उन्हें जेल की सलाखों के पीछे डाला। 
गृहमंत्री ने पाकिस्तान के ननकाना साहिब में गुरुद्वारे पर हुए हमले पर विपक्षी दलों को निशाने पर लेते हुए उन्होंने कहा कि केजरीवाल, राहुल और सोनिया गांधी आंख खोलकर देख लें। पाकिस्तान ने ननकाना साहिब जैसे पवित्र स्थल पर हमला करके सिख भाइयों को आतंकित कर दिया है। शाह ने विपक्षियों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कांग्रेस ने राम जन्मभूमि के मामले को बहुत वर्षों से रोककर रखा था। वह कोर्ट में इसका विरोध करती थी। सुप्रीम कोर्ट ने अब फैसला दिया है कि राम जन्मभूमि पर मंदिर बनना चाहिए।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा केजरीवाल ने दिल्ली के लिए क्या किया जरा बताइए। आपने कहा था कि 20 कॉलेज बनाएंगे, ये कॉलेज कहां गए पता नहीं। पांच हजार से ज्यादा स्कूल बनाने का वादा किया था, मैं चश्मा चढ़ाके देख रहा हूं स्कूल कहां बने हैं, पर कहीं नहीं दिखते। शाह ने दिल्ली में कच्ची बस्तियों को पक्का करने को लेकर जारी राजनीतिक घमासान पर कहा अब तक सभी राजनीतिक दल अनाधिकृत कॉलोनियों के साथ राजनीति करते रहे, बहानेबाजी किया करते थे। पीएम नरेन्द्र मोदी ने एक ही झटके में सारी अनधिकृत कॉलोनियों को अधिकृत कर दिया है। 
केजरीवालजी ने दिल्ली में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत काम नहीं होने दिया, आयुष्मान भारत योजना भी लागू नहीं करने दिया। भाजपा अध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं से मोहल्ला सभा करने और घर-घर पहुंचने की अपील की। शाह ने कहा कि आज का यह दृश्य बता रहा है कि फरवरी के अंत में दिल्ली में किसकी सरकार बनने वाली है। मैं मीडिया के मित्रों से कहना चाहता हूं कि यह जनता नहीं है, इतनी बड़ी संख्या में बूथ के चुनिंदा कार्यकर्ता हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं के पास मौका है कि दिल्ली के घर-घर में जाकर हमारी नीतियां जनता तक पहुंचाएं। भाजपा को चुनाव सभाओं से नहीं लड़ना है, बल्कि घर-घर जाकर लड़ना है। मोहल्ला मीटिंग करके लड़ना है। इस मोहल्ला मीटिंग की शुरुआत मैं ही करने जा रहा हूं।