ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
सीएए / ममता मैंगलोर में मारे गए लोगों के परिवार को 5-5 लाख रु. मदद देंगी; मुंबई में वंचित बहुजन अघाड़ी का प्रदर्शन
December 26, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • देश विदेश

मुंबई/कोलकाता. नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी के विरोध में गुरुवार को वंचित बहुजन अघाड़ी के कार्यकर्ताओं ने मुंबई में प्रदर्शन किया। दादर में बड़ी संख्या में प्रकाश अंबेडकर की पार्टी के कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे। उधर, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी कोलकाता में मार्च निकाला। उन्होंने कहा कि मैं सभी छात्रों से अपील करती हूं कि अपने अधिकारों के लिए लोकतांत्रिक तरीके से विरोध जारी रखें। इसके अलावा ममता ने मैंगलोर में बीते शुक्रवार को हिंसक प्रदर्शन में मारे गए दो लोगों के परिवार को 5-5 लाख रु. मदद देने की घोषणा की।

मुंबई के प्रदर्शन में करीब 50 हजार से अधिक लोगों के शामिल होने की बात कही जा रही है। इसमें बड़ी संख्या में आदिवासी समाज से जुड़े लोग भी पहुंचे। उन्होंने नृत्य के जरिया प्रतीकात्मक तौर पर सीएए और एनआरसी का विरोध दर्ज कराया। इससे पहले 24 दिसंबर को प्रकाश अंबेडकर मातोश्री में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मिले थे। इस दौरान उन्होंने महाराष्ट्र में नागरिकता कानून लागू नहीं करने की मांग सीएम से की थी।

इन इलाकों में ट्रैफिक रोका गया

प्रदर्शन के मद्देनजर पुलिस ने ट्रैफिक में बदलाव किए और कई जगह रास्तों पर प्रतिबंध लगा दिया। ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक, मुंबई के ईस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे पर भारी वाहनों प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया। वहीं, ठाणे की ओर से आने वाले भारी वाहनों को सुमन नगर चौक की ओर मोड़ दिया गया। इसी तरह, अरोरा जंक्शन से दादर टीटी जंक्शन तक सभी प्रकार के वाहनों का प्रवेश रोका गया। दादर (ईस्ट) से दादर (वेस्ट) और वर्ली की तरफ जाने वाले सभी वाहनों के लिए तिलक ब्रिज बंद करना पड़ा।