ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
सांसद बोले- मेरी कुर्सी गलत जगह लगी है, मंत्री ने कहा- मैं आपको बैठक से बाहर कर सकता हूं
January 21, 2020 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY

देवास. मध्य प्रदेश के देवास ज़िला योजना समिति की बैठक (meeting) में मंगलवार को प्रभारी मंत्री जीतू पटवारी (jitu patwari) और सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी (MP Mahendra Singh Solanki) भिड़ गए. मुद्दों पर बहस के बजाए विवाद गरमा गया. मंत्री जीतू पटवारी  (jitu patwari) ने सांसद से कह दिया कि मैं आपको बैठक से बाहर भी निकाल सकता हूं.

मुद्दों की जगह विवाद
देवास में मंगलवार को ज़िला योजना समिति की समीक्षा बैठक थी. ज़ाहिर है इसमें चर्चा तो विकास पर ही होनी थी. काम की प्रगति की समीक्षा की जानी थी. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. ज़िले के प्रभारी मंत्री जीतू पटवारी, सांसद महेंद्र सोलंकी और मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के प्रतिनिधि मनोज राजानी के बीच बैठक शुरू होते ही बहस शुरू हो गई. दरअसल सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी ने मीटिंग रूम में घुसते ही अपनी कुर्सी देखकर तीखे लहज़े में कहा कि आपने गलत जगह मेरी कुर्सी लगायी है. तल्ख माहौल में बैठक शुरू ही हुई थी कि उसके बाद अतिक्रमण विरोधी मुहिम को लेकर माहौल फिर गरमा गया.

गुस्सा गए पटवारी सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी की भाषा और शैली मंत्री जीतू पटवारी को अखर गई. उन्होंने सांसद से कहा आपका सामान्य ज्ञान कमज़ोर है और मैं आपको बैठक से बाहर कर सकता हूं.

सज्जन सिंह वर्मा के प्रतिनिधि से बहसबैठक की कार्रवाई कुछ आगे बढ़ी ही थी कि देवास में गंगा इंडस्ट्री पर अतिक्रमण को लेकर फिर माहौल गरमा गया. सांसद महेंद्र सिंह ने इसकी जांच कराने की मांग रखी तो मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के प्रतिनिधि मनोज राजानी ने अपने प्रतिष्ठान की जांच की बात को लेकर सांसद को आड़े हाथों ले लिया.

देर तक हंगामा बरपा
बैठक में हुई इस बहस की ख़बर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को लग गई. कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट के बाहर जमा हो गए जहां मीटिंग चल रही थी. उन्होंने सांसद पर योजना समिति की बैठक में मंत्री की अवमानना का आरोप लगाते हुए नारेबाज़ी शुरू कर दी.

पटवारी बोले
प्रभारी मंत्री जीतू पटवारी ने सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी पर आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व में भी उन्होंने बैठक में हंगामा किया था. वो सांसद की गरिमा नहीं समझ रहे हैं. पटवारी ने कहा, "सांसद महोदय की भाषा ठीक नहीं थी. वो बार-बार हाथ और उंगली उठाकर बात कर रहे थे."

सांसद की आपत्ति
सांसद महेंद्र सोलंकी ने इस घटनाक्रम पर कांग्रेस पर निशाना साधा. उनका कहना है कि जब मैंने समिति की बैठक में अनाधिकृत लोगों को बैठे देखा तो आपत्ति जताई. अतिक्रमण के मुद्दे पर प्रभारी मंत्री ने सिर्फ़ विषय पर बात करने को कहा, जो गलत था. कांग्रेस मनमानी कर रही है. चुन चुन कर बीजेपी कार्यकर्ताओं को मंत्री के दलाल निशाना बना रहे हैं. भारतीय जनता पार्टी यह कतई सहन नहीं करेगी.