ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
साध्वी प्रज्ञा और शिवराज के खिलाफ MP में हल्ला-बोल, कमलनाथ सरकार के मंत्री बोले- 'दिल्ली में करें नौटंकी'
December 8, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश

भोपाल. मध्य प्रदेश में कांग्रेस (Congress) और भाजपा (BJP) नेताओं के बीच की सियासत इन दिनों गर्माई हुई है. एक तरफ जहां भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur) कांग्रेस विधायक के खिलाफ धरना दे रही हैं, तो उन पर प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री बयान दे रहे हैं. वहीं, दूसरी ओर शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) द्वारा सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) के संदर्भ में दिए गए बयान को लेकर रविवार को कांग्रेस कार्यकर्ता बिफरे दिखे. शिवराज के बयान से गुस्साए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भोपाल में पैदल मार्च निकाला और शिवाजी महाराज की मूर्ति के सामने प्रदर्शन किया. इधर, जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा (Minister PC Sharma) ने साध्वी प्रज्ञा के धरने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, 'साध्वी को चाहिए कि वह दिल्ली में धरने पर बैठें, ना कि भोपाल में नौटंकी करें.'

शिवराज के बयान पर गांधीगिरी
सागर में शिवराज सिंह चौहान के सीएम कमलनाथ को लेकर दिए बयान से गुस्साए कांग्रेसियों ने रविवार को लिंक रोड स्थित शिवाजी महाराज की मूर्ति के सामने से पैदल मार्च निकाला. मार्च के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ता अपने हाथों में शिवराज के लिए 'गेट वेल सून' का कार्ड और गुलाब का फूल लिए थे. उनकी मांग थी कि शिवराज को अपने बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए. कांग्रेसियों की मंशा थी कि वे पूर्व सीएम के घर जाएं और उन्हें कार्ड और गुलाब फूल भेंट करें. शिवराज भोपाल में नहीं थे, इसके बावजूद कांग्रेस कार्यकर्ता उनके आवास तक पहुंचने की कोशिश करते दिखे. इस दौरान रास्ते पर मौजूद पुलिसबल के साथ कांग्रेसियों की झड़प भी हुई. पुलिस के समझाने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ता माने. उन्होंने चेतावनी दी कि अगर पूर्व सीएम ने बयान पर माफी नहीं मांगी तो जिलास्तर पर उनके खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा.साध्वी के धरने को कहा नौटंकी
इधर, सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के धरने पर बैठने को लेकर जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने प्रतिक्रिया दी. शर्मा ने अपने बयान में कहा, 'साध्वी एक तो चोरी तो दूसरी ओर सीनाजोरी कर रही हैं.' बीजेपी के ऊपर हमला करते हुए उन्होंने कहा, 'ये लोग नाथूराम गोडसे की बात करते हैं. साध्वी ने गोडसे को महिमामंडित किया तो केंद्र ने इनको रक्षा समिति में शामिल किया.' पीसी शर्मा ने कहा, 'महात्मा गांधी के साथ सरदार पटेल ने गुजरात का नाम रोशन किया है, इसलिए पीएम को इनके सम्मान की रक्षा करनी चाहिए. साध्वी को चाहिए कि वह दिल्ली में धरने पर बैठें, ना कि भोपाल में नौटंकी करें.' वहीं शिवराज सिंह चौहान के सागर में सीएम को लेकर दिए बयान पर उन्होंने कहा कि शिवराज को अपनी मानसिक हालत का इलाज कराना चाहिए. जनसंपर्क मंत्री ने कहा कि जीतू सोनी के साथ शिवराज के संबंध थे, अब सोनी के खिलाफ कार्रवाई हो रही है, तो शिवराज बौखला गए हैं.