ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग नई दिल्ली की बेंच का सिंगरौली मे हुआ आयोजन
January 10, 2020 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी

वैढ़न,सिंगरौली। विकास के विभिन्न विंदुओ में पिछड़े आकाक्षी जिला सिंगरौली मे बाल अधिकारो को सुनिश्चित कराने तथा वास्तु स्थितियो से अवगत होने के लिए राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण की टीम द्वारा बेच का आयोजन किया जाकर जिला पंचायत के सभागार मे प्रात: 9 बजे सो 4 बजे तक विभिन्न विंदुओ पर सुनवाई एवं आवेदन पत्र प्राप्त किये गये। 
    बेंच में आयोग के अध्यक्ष श्री प्रियंक कानूनगो, सदस्य अंजू मिश्रा राज्य बाल संरक्षण आयोग, द्रविंद मोरे , की उपस्थिति मे कार्यवाही प्रारंभ हुई। तथा न्यायिक पीठ के रूप मे बच्चो के सभी प्रकारण की समस्यो जैसे, बालश्रम,बालको का लैंगिक उत्पीड़, दिव्यांगता संबंधित प्रमाण पत्र एवं छात्रवृत्ति प्राप्त न होना, व्हील चेयर, ट्रईसायकल प्राप्त न होना, अनाथ एवं लावारिस या अवैध रूप से दंत्तक ग्रहण कि शिकायते, बच्चो की तस्करी, बाल विवाह की शिकायते आदि पर सुनवाई की गई।
     राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा बच्चो के अधिकारो को सुनिश्चत कराने के लिए किशोर न्याय अधिनियम 2015 एवं आदर्श नियम 2016 के प्रावधानो के तहत बच्चो को प्राप्त होने वाले समस्त अधिकारो का जिले मे अनुपालन संबंधी शिकायते शिक्षा के अधिकार अधिनियम 2009 एवं बालाको का लैगिंक अपराधो से संरक्षण अधिनियम 2012 अंतर्गत शिकायते प्राप्त हुई। आकांक्षी जिले मे आयोग द्वारा जिले के समस्त विभाग प्रमुखो को बाल अधिकारो को सुनिश्चित कराने के लिए संवेदनशीलता एवं समन्वय के साथ कार्य करने के निर्देश दिये गये। वही बेच के दौरान कई दिव्यांगो के यूडी आईडी कार्ड सहित मेडिकल बोर्ड टीम के द्वारा उन्हे मेडिकल प्रमाण पंत्र का वितरण किया गया।    बेंच के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज के द्वारा आयोग के अध्यक्ष सहित सदस्यो का पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया गया। बेंच के दौरान एनसीपीसीआर टीम के सदस्य स्वतंत्र सहगल, अंजली महलके, राजेश, अंशकुमारी, प्रशान्त चौहान, महिला बाल विकास अधिकारी प्रवेश मिश्रा, नीरज शर्मा आदि उपस्थित रहे।