ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
प्रियंका गांधी की सुरक्षा में चूक, सीआरपीएफ के बावजूद घर में घुसे अज्ञात लोग
December 2, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY
नई दिल्ली
एसपीजी सुरक्षा वापस लिए जाने के बाद पिछले सप्ताह कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की सुरक्षा में चूक की खबर सामने आई है। प्रियंका गांधी की सुरक्षा की जिम्मेदारी अभी सीआरपीएफ संभाल रही है। मामला पिछले सप्ताह का है जब सीआरपीएफ का सुरक्षा घेरा होने के बावजूद अज्ञात लोग उनके आवास में घुस गए। पीटीआई सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के लोधी एस्टेट स्थित घर पर सुरक्षा में चूक हुई। एक सप्ताह पहले अज्ञात व्यक्तियों ने उनके आवास में बिना पूर्व जानकारी के प्रवेश किया और सेल्फी के लिए कहा। प्रियंका गांधी के दफ्तर ने सीआरपीएफ में इसकी शिकायत दर्ज कराई है, जांच जारी है।
वहीं नई दिल्ली के एडीशनल डीसीपी दीपक यादव ने बताया कि, प्रियंका गांधी के घर में किसी भी अनधिकृत वाहन के प्रवेश के बारे में स्थानीय पुलिस स्टेशन में कोई शिकायत नहीं मिली है।गौरतलब है कि केंद्र ने पिछले महीने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के परिवार से एसपीजी (स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप) सुरक्षा वापस ले ली थी और उसके स्थान पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 'जेड प्लस' सुरक्षा मुहैया कराई थी।
जेड प्लस सुरक्षा के तहत सीआरपीएफ कमांडो इन नेताओं को घर पर और देश में कहीं भी यात्रा करने पर सुरक्षा प्रदान करती है।
गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाने पर खासा हंगामा हुआ था और कांग्रेस ने इसे लेकर विरोध प्रदर्शन भी किया था। संसद में भी इस मुद्दे पर जमकर संग्राम मचा और सदन की कार्यवाही स्थगित तक करनी पड़ी थी। कांग्रेस सहित कई विपक्षी पार्टियों ने भाजपा को लोकसभा में इसे लेकर घेरा था और बदले की राजनीति का आरोप लगाया था। वहीं, गृह मंत्री अमित शाह ने एसपीजी अमेंडमेंट बिल पर चर्चा के दौरान इस पर जवाब दिया था।
उन्होंने बिना किसी का नाम लिए कहा था कि अबतक एसपीजी सुरक्षा के नियमों में जो भी बदलाव हुए थे, वे सिर्फ एक परिवार को ध्यान में रखकर हुए, पहली बार पीएम की सुरक्षा को ध्यान में रखकर बदलाव हुआ है। उन्होंने कहा कि एसपीजी प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए है, इसका स्टेटस सिंबल के तौर पर इस्तेमाल नहीं होगा।
वहीं इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि मुझे अभी तक इस बारे में जानकारी नहीं है। मैं अपने अधिकारियों के साथ चर्चा कर इसकी विस्तृत जानकारी हासिल कर रहा हूं।