ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
प्रधानमंत्री आवास निर्माण कार्यो में गति लाये:कलेक्टर
December 2, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी


नया सवेरा योजना के हितग्रहियो को शीघ्र सत्यापन करने का दिया गया निर्देश

काल चिंतन संवाददाता,
वैढ़न,सिंगरौली।  सभी जनपद पंचायतो में निर्माणाधीन प्रधानमंत्री आवासो का निर्माण कार्य तय समय पर पूर्ण कराया जाना समस्त जनपंद पंचायतो के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुनिश्चित करे।तथा नया सवेरा योजना के पात्र हितग्राहियो का शत प्रतिशत भौतिक सत्यापन का पोर्टल में अपलोड किया जाना भी सुनिश्चित करे। उक्त आशय का निर्देश कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित समय सीमा बैठक के दौरान कलेक्टर श्री केवीएस चौधरी के द्वारा दिया गया।
      कलेक्टर के द्वारा जनपदवार प्रधानमंत्री आवासो के निर्माण की समीक्षा करते हुये कहा कि जिन हितग्राहियो को द्वितीय किस्त आवंटित हो चुकी उनके द्वारा भी निर्माण कार्य में गति नही लाई जा रही है द्वितीय किस्त के मापदण्ड के अनुसार जिन हितग्राहियो के द्वारा निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया उन्हे तत्काल तीसरी किस्त जारी करे। वही नगर निगम आयुक्त को निर्देश दिया गया कि मोरवा में आईएचएसडीपी योजना के अंतर्गत  काफी समय पूर्व आवासो का निर्माण पूर्ण हो चुका है तथा कुछ लोगो को आवास आवंटित भी किये जा चुके है इसके बावजूद भी हितग्राही आवासो में नही रह रहे है आवंटियो को अंतिम नोटिस जारी करे। तथा यह सुनिश्चित कराये कि जिन लोगो को आवास आवंटित किये गाये है वे रहना सुरू करे। अन्याथा उनका आवंटन निरस्त करने की कार्यवाही करे। साथ ही गनियारी मे आवंटित प्रधानमंत्री आवासो में भी आवंटियो के रहने की कार्यवाही सुरू कराये।
       कलेक्ट के द्वारा समय सीमा बैठक के दौरान पेंशन प्राप्त कर रहे दिव्यांग के यूडी आईडी को शत प्रतिशत पोर्टल में दर्ज करने का निर्देश दिया गया। उन्होने ने गौ-शाला निर्माण हेतु जिन पंचायतो में भूमियो का आवंटन कर दिया गया है वहा पर शीघ्र  गौ-शाला निर्माण कार्य प्रारंभ करने का निर्देश दिया। वही जिन पॉच गौ-शाला का निर्माण पूर्ण हो चुका है वहा पर एक संप्ताह के अंदर विद्युत व्यवस्था, पेय जल व्यवस्था कराया जाना सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया। तथा जिन छात्रावासो के छतो के के साथ साथ अन्य कार्य की मारंम्मत कराया जाना है उन्हे तत्काला प्रारंभ कराये।
      कलेक्टर ने मुख्य स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि जिन प्रसव केन्द्रो में प्रसव से संबंधी संम्पूर्ण व्यवस्थाये पूर्ण कर ली गई है उन केन्द्रो में एएनएम तथा आशा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण प्रदान करना सुनिश्चित करे। साथ यह भी निर्देश दिया गया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जहा पर शव वाहन उपलंब्ध करा दिये गये है उनका उपयोग किया जा रहा है कि नही इसकी जानकारी से अवगत कराये। उन्होने राजस्व न्यायालयो मे लंबित प्रकरणो की जानकारी लेने के पश्चात निर्देश दिया कि लंबित प्रकरणो का निराकरण समय सीमा कराये जाये।
     कलेक्टर के द्वारा जनपद पंचायतो के मुख्य कार्यपालन अधिकारियो को यह भी निर्देश दिये गये कि जनपद वार पंचायतो में कितनें निर्माण कार्य स्वीकृत किये गये है उनकी वर्तमान स्थिति क्या है जपनद वार जानकारी से अवगत कराये। कलेक्टर ने सीएम हेल्प लाईन की समीक्षा करते हुये निर्देश दिये कि 5 सौ दिवस से अधिक समय से लंबित शिकायतो एवं सौ दिवस से अधिक लंबित शिकायते जिनका निराकरण संबंधित विभाग के अधिकारियो द्वारा नही किया गया है यदि तीन दिन के अंदर संतुष्टि पूर्वक शिकायतो का निराकरण नही किया गया तो संबंधित अधिकारियो के उपर जुर्मान अधिरोपित किया जायेगा। उन्होने यह भी निर्देश दिया कि सीएम हेल्प लाईन तथा जनसुनवाई, आपकी सरकार आपके द्वार शिविर में प्राप्त आवेदनो का समय सीमा मे निराकरण करे।
       बैठक के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज, निगमायुक्त शिवेन्द्र सिंह, सहायक कलेक्टर संघप्रिय, डिप्टी कलेक्टर व्हीपी पाण्डेंय, एसडीएम ऋषि पवार, डिप्टी कलेक्टर रवि मालवीय, उपसंचालक कृषि अशीष पाण्डेंय, खनिज अधिकारी एके राय, जिला शिक्षा अधिकारी बृजेश मिश्रा, डीपीसी आरके दुबे, तहसीलदार जितेन्द्र बर्मा, सहित जिलाधिकारी उपस्थित रहे।