ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
पीएम और मैं चाहता हूं कि सीआरपीएफ का हर जवान साल में 100 दिन परिवार के साथ बिताएं: शाह
December 29, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY


2022 तक मिलेगा सीआरपीएफ को नया मुख्यालय 
नई दिल्ली। दिल्ली में गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के मुख्यालय का शिलान्यास करते हुए कहा कि आप देश की सुरक्षा कीजिए, आपके परिवार की चिंता और सुरक्षा हमारी सरकार करेगी। सीआरपीएफ दुनिया का सबसे बहादुर सशस्त्र बल है। इतिहास को सीआरपीएफ के बहादुरी के किस्से को हमेशा स्थान देना होगा। 2181 जवानों ने बलिदान दिया है।
शाह ने कहा कि 21 अक्टूबर 1959 को सीआरपीएफ के सिर्फ 10 जवानों ने अत्याधुनिक हथियारों से लैस चीन की टुकड़ी से लड़ाई लड़कर बलिदान दिया। बल्कि त्रिपुरा और पंजाब में आतंकवाद को पूरी तरह खत्म कर दिया। कच्छ के सरदार पोस्ट पाकिस्तानी हमले को भी सीआरपीएफ ने ही बचाया। जब तक सेना नहीं पहुंची सीआरपीएफ के जवान अपनी जगह पर डटे रहे।
इस मौके पर सीआरपीएफ जवानों को संबोधित करते हुए गृहमंत्री ने कहा कि सीआरपीएफ के जवानों को होने वाली दिक्कतों से देश के प्रधानमंत्री और गृहमंत्री वाकिफ हैं। हम चाहते हैं कि हर जवान साल में अपने परिवार के साथ 100 बिताए।
शाह ने कहा कि 100 छुट्टी को लेकर कमेटी बना दी है। कुछ संस्थाओं को मैंने सॉफ्टवेयर बनाने के लिए कहा है। अगले बजट में उसके लिए प्रावधान आएगा। जवान साल में 100 दिन अगर वह अपने परिवार के साथ रहता है,तब वह अपनी जिम्मेदारियों का बेहतर निर्वहन कर पाएगा। सिर्फ जवानों का हेल्थ चेकअप होता है लेकिन अब जवानों के मां-बाप बच्चे और पत्नी का भी हेल्थ चेकअप होगा।सीआरपीएफ के नए मुख्यालय का शिलान्यास करने पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के अलावा केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय, कैबिनेट सेक्रेटरी राजीव गौबा, केंद्रीय गृह सचिव ए के भल्ला और सीआरपीएफ के महानिदेशक राजीव राय भटनागर भी मौजूद थे। 
277 करोड़ में बनेगा नया मुख्यालय
केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल का नया मुख्यालय लोधी रोड पर 277 करोड़ की अनुमानित लागत से 2.23 एकड़ भूमि में बनेगा, जो सीबीआई के मुख्यालय से सटा है। सीपीडब्ल्यूडी को 2022 तक नए भवन के निर्माण का काम सौंपा गया है। सीआरपीएफ का वर्तमान मुख्यालय लोधी रोड पर केंद्र सरकारी कार्यालय (सीजीओ) परिसर में ब्लॉक नंबर 1 में स्थित है, लेकिन मुख्यालय की इमारत में जगह की कमी है। इसके चलते कारण बल के कई कार्यालय, जैसे आरएएफ, कोबरा, चिकित्सा, प्रशिक्षण, संचार और कार्य एवं भर्ती संबंधी कार्यालय, राष्ट्रीय राजधानी में विभिन्न स्थानों में स्थित हैं।
नया मुख्यालय 12 मंजिला होगा, जिनमें सभागार, सम्मेलन कक्ष, अधीनस्थ कर्मचारियों के लिए बैरक, कैंटीन, व्यायामशाला, अतिथि गृह, रसोईघर और भोजन कक्ष और 520 कारों और 15 बसों के लिए पार्किंग की व्यवस्था होगी।कार्यालय ब्लॉक को कैफेटेरिया से जोड़ने के लिए इमारत की छठी और सतवीं मंजिल पर स्काईवॉक बनाए जाएंगे।भवन में एक जल और मलजल शोधन संयंत्र, वर्षा जल संचयन प्रणाली और एक स्वदेशी वातायन प्रणाली बनाने का भी प्रस्ताव है।