ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
नागरिकता संशोधन कानून / भोपाल में समर्थन में भाजपा विधायकों ने मार्च निकाला, दिग्विजय के भाई ने कहा- कानून तो मानना पड़ेगा
December 17, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश

भोपाल। मध्य प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून लागू किए जाने को लेकर मंगलवार को भाजपा विधायकों ने पैदल मार्च निकाला। भाजपा प्रतिनिधिमंडल से राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून लागू कराने की मांग की। इधर, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के भाई और विधायक लक्ष्मण सिंह ने कहा- नागरिकता संशोधन कानून को मंजूरी मिल गई है। सभी जगह लागू होगा तो मध्यप्रदेश में भी होगा। कानून को मानना ही पड़ेगा। 

विधानसभा में सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित होने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और प्रदेश अध्यक्ष, सांसद राकेश सिंह भाजपा विधायकों के साथ बिड़ला मंदिर पहुंचे। यहां से मार्च के रूप में राजभवन पहुंचे और राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा। 

लक्ष्मण सिंह ने कहा- कानून को तो मानना पड़ेगा

कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने कहा- 'संसद में जो कानून बनता है वो पूरे देश के लिए बनता है। हम उससे सहमत हो सकते हैं या उससे असहमत। सदन में हमने उसे उठाया लेकिन बहुमत से अगर वो पारित हो गया और कानून बन गया है तो हमें कानून हाथ में नहीं लेना चाहिए। और उसमें कोई विसंगतियां हैं तो हम संशोधन के लिए प्रस्ताव दे ‌सकते हैं। इसमें कोई बड़ी बात नहीं थी। यहां जो हिंदू शरणार्थी की तरह रह रहे हैं, उनको उन्होंने नागरिकता देने का प्रावधान किया है- देट्स आल। कोई बड़ी बात नही है। मैं समझता हूं कि इसमें कोई इतना बड़ा विरोध जताने की बवंडर मचाने की आवश्यकता नहीं है। सभी जगह लागू होगा तो मध्यप्रदेश में भी होगा। इसका विरोध कर सकते हैं लेकिन कानून को तो मानना पड़ेगा। हम सरकार में रहकर एक देश के कानून को नहीं मानेंगे, ठीक नहीं।' 
  

केंद्र ने संघीय व्यवस्था का पालन नहीं किया

नागरिकता संशोधन कानून लागू करने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि इस बिल पर केंद्र सरकार ने संघीय परंपरा का पालन नहीं किया। मोदी सरकार ने बहुमत के बल पर संशोधन बिल पास करवाया है। इससे देश की एकता और अखंडता को खतरा पैदा हो गया है।


हर दिन पैदल मार्च कर विधानसभा भाजपा विधायक पहुंचेंगे
भाजपा विधायक विधानसभा सत्र में हर दिन अलग-अलग मुद्दों पर बिड़ला मंदिर के सामने एकत्र होकर पैदल मार्च करते हुए विधानसभा पहुंचेंगे। यह निर्णय सोमवार रात भाजपा विधायक दल की बैठक में लिया गया। पूरे सत्र के दौरान भाजपा विधायकों के पैदल मार्च का सिलसिला जारी रहेगा। 18 दिसंबर को किसानों को यूरिया की कमी व अन्य समस्याओं, 19 दिसंबर को युवाओं को बेरोजगारी भत्ता नहीं मिलने, 20 दिसंबर को प्रधानमंत्री आवास योजना में गड़बड़ी, उसका काम धीमा करने और 23 दिसंबर को रेत- शराब माफिया के विरोध में विधायक पैदल मार्च करते हुए विधानसभा पहुंचेंगे। इसके लिए सभी विधायक सुबह 10 बजे बिड़ला मंदिर के सामने एकत्र होंगे।