ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
नागरिकता कानून: अलीगढ़ यूनिवर्सिटी के बाद लखनऊ में भी छात्रों ने पुलिस पर पथराव किया, 6 जिलों में धारा 144
December 16, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • देश विदेश

लखनऊ. नागरिकता कानून के विरोध की आग पूर्वोत्तर और दिल्ली के बाद उत्तर प्रदेश तक पहुंच गई। दिल्ली की जामिया यूनिवर्सिटी में रविवार रात प्रदर्शनकारी छात्रों पर पुलिस बल प्रयोग के विरोध में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में छात्र उग्र हो गए। पथराव के बाद पुलिस ने उन्हें काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे और लाठीचार्ज किया। सोमवार सुबह लखनऊ में नदवा कॉलेज के छात्रों ने पुलिस पर पथराव किया। योगी सरकार ने एहतियातन पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 6 जिलों में धारा 144 लागू की। अलीगढ़ मेरठ, सहारनपुर और अलीगढ़ में इंटरनेट बंद किया गया।

अलीगढ़: एएमयू 5 जनवरी तक बंद, हॉस्टल खाली कराए गए

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में 4 दिनों से चल रहा छात्रों का प्रदर्शन रविवार रात उग्र हो गया। पथराव में डीआईजी अलीगढ़ समेत 10 पुलिसकर्मी घायल हुए। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने आंसू गैस के गोले दागकर स्थिति पर काबू किया। बल प्रयोग में 60 से ज्यादा छात्र जख्मी हो गए। प्रशासन ने परीक्षाएं टालते हुए 5 जनवरी तक यूनिवर्सिटी को बंद कर दिया है। छात्रों से हॉस्टल खाली करा लिए गए हैं।

लखनऊ: नदवा कॉलेज के छात्रों ने पुलिस पर पथराव किया
सोमवार सुबह नदवा कॉलेज के छात्रों ने प्रदर्शन किया। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो छात्र उग्र हो गए। पथराव में कई पुलिसकर्मी और राहगीर घायल हुए। उग्र छात्रों को काबू करने के लिए पुलिस ने कॉलेज के गेटों को बाहर से बंद किया। रविवार देर रात भी यहां 500 छात्रों ने प्रदर्शन किया था। सोमवार को छात्रों के उग्र प्रदर्शन के बाद 5 जनवरी तक कॉलेज में छुट्‌टी घोषित कर दी गई है।

सहारनपुर: मदरसा छात्रों ने रोड पर नमाज पढ़ी
सहारनपुर में बीते बुधवार को मदरसा छात्रों ने नागरिकता कानून के विरोध में हाईवे पर हंगामा किया था। पुलिस ने 200 लोगों पर केस दर्ज किया है। देवबंद में भी पुलिस अलर्ट पर है। रविवार रात देवबंद थाना क्षेत्र में छात्रों ने मार्च निकालने की कोशिश की। जब पुलिस ने उन्हें रोका तो छात्रों ने सड़क पर नमाज पढ़ी। इसके बाद तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने जिले में इंटरनेट बंद कर दिया।

मेरठ: इंटरनेट ठप, साइबर सेल की टीमें चौकन्नी
सहारनपुर में विरोध को देखते हुए इससे सटे मेरठ जिले में भी पुलिस अलर्ट पर है। यहां धारा 144 पहले से लागू है। सोशल मीडिया की हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। इसके लिए साइबर सेल की पांच टीम बनी है। रविवार रात 12 बजे से 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। हालांकि, सोमवार को स्कूल-कॉलेज खुले हैं।

बरेली: आईएमसी अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा पर एफआईआर 

नागरिकता कानून के विरोध में बरेली में भी प्रदर्शन हुए। दो दिन पहले यहां इत्तेहादे मिल्लत काउंसिल (आईएमसी) के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा ने नौमहला मस्जिद पर प्रदर्शन किया था। इस दौरान उन्होंने बिल वापस न लेने पर हिंदुस्तान की गलियों में खून बहने व खूनी संघर्ष जैसी तकरीरें दी थी। इसके बाद तौकीर रजा समेत 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन और भड़काऊ भाषण देने के मामले में एफआईआर दर्ज की गई।

मुख्यमंत्री योगी ने डीजीपी को तलब किया
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डीजीपी को सूबे के हालात को लेकर तलब किया। सीएम ने रविवार रात अलीगढ़, सहारनपुर, लखनऊ समेत तमाम शहरों में हुए प्रदर्शन पर डीजीपी से जानकारी ली। सीएम ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। संवेदनशील जिलों में अतिरिक्त पुलिस बल भी तैनात किया गया है।