ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
'मर्दानी 2'  द्वारा रेप के खिलाफ देश के गुस्से को पर्दे लाई रानी मुखर्जी 
December 15, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मनोरंजन


मुंबई। देश में निर्भया केस और हैदराबाद केस के सुर्खियों में आने के बाद से ही लोगों को रानी मुखर्जी की फिल्म 'मर्दानी 2' के ‎रिलीज का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। हालां‎कि यह फिल्म 13 दिसंबर को सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। बताया गया ‎कि फिल्म यशराज बैनर के तले बनाई गई है वहीं फिल्म गोपी पुथरन ने निर्देशित की है। बता दें ‎कि इस फिल्म में रानी मुखर्जी एक निडर पुलिस अफसर की भूमिका में हैं, यह साल 2014 में आई फिल्म "मर्दानी'' का सीक्वेंस है। फिल्म में एक बार फिर दमदार पुलिस अधिकारी "शिवानी शिवाजी रॉय" महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों के विरोध में मोर्चा खोले नजर आ रही हैं। बता दें ‎कि फिल्म के ट्रेलर को दर्शकों ने खूब पसंद किया था। हालां‎कि ट्रेलर से ही अंदाजा लगाया जा सकता था कि ये महिलाओं की सुरक्षा और लैंगिक असमानता जैसे मुद्दों को दर्शाती नजर आएगी, लेकिन फिल्म ट्रेलर के मुकाबले कहीं ज्यादा अपने मुद्दों को पर्दे पर लाने में सफल नजर आती है। दरअसल इस फिल्म में रानी मुखर्जी एक अपराधी विशाल जेठवा को पकड़ती नजर आती हैं जो बेदर्दी से लड़कियों को अपनी हवस का शिकार बनाता है और बेहद क्रूर तरीके से उनकी हत्या कर देता है। इतना ही नहीं यह अपराधी इतना साइकिक है कि अपराध करने से पहले पुलिस को बताता भी है। ‎जिसके बाद इसी क्लू के पीछे भागते रानी मुखर्जी उस तक पहुंचने की कोशिश करती है। बता दें ‎कि इन अपराधों को नेचुरल दिखाने के लिए "मर्दानी 2" के निर्देशक गोपी पुथरन ने काफी मेहनत की है, लेकिन यहां फिल्म कई बार इतनी दर्दनाक हो जाती है कि देखते हुए कई बार दिल सिहर जाता है। लेकिन इन दिनों सामने आने वाली घटनाओं से फिल्म पूरी तरह रिलेवेंट नजर आती है। बता दें ‎कि फिल्म में रानी का गुस्सा पूरे समाज में रेपिस्टों के खिलाफ गुस्से को जाहिर करता है। तब भी अगर आप कमजोर दिल के हैं तो फिल्म देखते हुए कई बार आंखें बंद करनी पड़ सकती हैं।