ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
मध्यप्रदेश विधानसभा सत्र 17 दिसम्बर से 23 दिसम्बर तक चलेगा
December 1, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश


प्राप्त हो रहे विधानसभा प्रश्नो के उत्तर समयावधि में भेजे – कलेक्टर
होशंगाबाद ।कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने जिले के समस्त कार्यालय प्रमुखो को अवगत कराया है कि मध्यप्रदेश विधानसभा का सत्र 17 दिसम्बर से प्रारंभ होगा और 23 दिसम्बर तक चलेगा। सभी अधिकारी विधानसभा सत्र के लिए प्राप्त हो रहे विधानसभा प्रश्नो का उत्तर समयाविध में भेजना सुनिश्चित करें। इस संबंध में कलेक्टर द्वारा जारी आदेश में समस्त जिला कार्यालय प्रमुखो को ताकीद किया गया है कि वे विधानसभा प्रश्न के प्राप्त होते ही तत्काल उसका उत्तर तैयार कराकर अनुमोदन प्राप्त कर ईमेल/फैक्स एवं विशेष वाहक के हस्ते भेजना सुनिश्चित करे। विधानसभा के उत्तर समयावधि में सही एवं पूरक जानकारी सहित भेजने का पूर्ण उत्तरदायित्व संबंधित कार्यालय प्रमुख/प्रभारी अधिकारी का होगा। जिला कार्यालय एवं उनसे संबंधित विभानसभा प्रश्नो के उत्तर परीक्षण करने एवं समयावधि में भेजने हेतु नोडल अधिकारी अपर कलेक्टर केडी त्रिपाठी होगे और उनकी अनुपस्थिति में डिप्टी कलेक्टर श्रीमति वंदना जाट नोडल अधिकारी का कार्य देखेगी। 
 कलेक्टर ने विधानसभा सत्र के दौरान समस्त कार्यालय प्रमुखो को निर्देशित किया है कि वे बिना सक्षम अधिकारी (कलेक्टर) की अनुमति के अवकाश पर न जाए और न ही मुख्यालय छोड़े। इस दौरान कार्यालय प्रमुख अपने अधीनस्थ कर्मचारियों का विशेष परिस्थितियों में ही अवकाश स्वीकृत करे और अवकाश पर गये कर्मचारी के स्थान पर अन्य कर्मचारी की व्यवस्था करना सुनिश्चित करे। जिला कार्यालय सहित सभी जिला कार्यालयों में कंट्रोल रूम स्थापित किया जाए और सत्र समाप्ति तक 24 घंटे कार्यालय में विधानसभा प्रश्न प्राप्त करने के लिए कर्मचारियों की चक्रवार तैनाती करना सुनिश्चित किया जाए। विधानसभा प्रश्नो के उत्तर ऑनलाईन भेजे जावे, किसी भी प्रकार का विलंब ना हो, विधानसभा प्रश्नो के उत्तर की एक प्रति मध्यप्रदेश शासन के संबंधित विभाग प्रमुख, आयुक्त नर्मदापुरम् एवं कलेक्टर कार्यालय को अनिवार्य रूप से भेजी जाए। 
 कलेक्टर ने समस्त जिला कार्यालय प्रमुखो से कहा है कि विधानसभा प्रश्न का उत्तर समयावधि में नही भेजने के परिणाम स्वरूप जिला कार्यालय में संधारित पंजी में प्रविष्टि नही हो पाती है और विधानसभा प्रश्न लंबित पत्रक में दर्शाना पड़ता है अत: प्रत्येक विधानसभा प्रश्न के उत्तर की एक प्रति किलोे कार्यालय में आवश्यक रूप से भेजना सुनिश्चित करें।