ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
मध्याह्न भोजन बना कमाई का जरिया
December 10, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी


काल चिंतन संवाददाता,
चितरंगी/सिंगरौली। सिंगरौली जिले अन्तर्गत विकास खंड चितरंगी के संकुल केंद्र चितरंगी में माध्यमिक शाला दुअरा में मध्यान भोजन का संचालन मीनू के आधार पर नही किया जा रहा है। जिसकी शिकायत ग्रामीणजनों द्वारा उपखंड अधिकारी चितरंगी के नाम नायब तहसीलदार संजय जाट को दिया गया है। नायब तहसीलदार द्वारा आश्वाशन दिया गया है कि उक्त शिकायत पत्र की जांच एक सप्ताह के अंदर कराकर दोषी पाए जाने पर कार्यवाही की जाएगी। 
आपको बता दे कि पूर्व में शारदा स्व सहायता समूह दुआरा द्वारा मध्यान भोजन का संचालन किया जा रहा था। लेकिन डीपीसी सिंगरौली के भ्रमण कार्यक्रम के दौरान गुणवत्ता युक्त भोजन न पाए जाने पर शारदा स्व सहायता समूह का अनुबन्ध समाप्त कर एसएमसी दुअरा को मध्यान भोजन का संचालन करने का आदेश 1 दिसंबर 2019 को कर दिया गया। 
लेकिन एसएमसी के मध्यान भोजन से भी ग्रामीणों में संतुष्ठी नही है उपखंड अधिकारी को शिकायत की है। इस मध्यान भोजन के संचालन से बच्चो का भविष्य पूरी तरह से अंधकार में है शिक्षा का स्तर दिन प्रतिदिन गिरता ही जा रहा है। समूह एक ब्यवसाय बन गया है जिसकी होड़ लगी है समूह पाने के लिए।