ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
लोक तंत्र के चौथे स्तंभ को भारतीय संविधान में अधिकृत कराने तक पत्रकार महासंघ का संघर्ष रहेगा जारी
November 28, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी


बैठक मे जिले की पुलिसिया कार्यप्रणाली पर भड़के पत्रकार, की कड़ी निंदा 
सिंगरौली: हमारा भारतीय लोकतंत्र चार स्तंभों पर खड़ा है न्याय पालिका ,कार्यपालिका, व्यवस्थापिका और पत्रकारिता लेकिन लोक तंत्र के चार खम्भो में से एक खम्भा जिसे पत्रकारिता कहा जाता है इसे गिराने व प्रताड़ित कमजोर करने का कुचक्र वर्षो से देश मे किया जा रहा है
यह उद्दगार आज सिंगरौली जिले के मुख्यालय स्थित सर्किट हाउस में संयुक्त श्रमजीवी पत्रकार महासंघ(ऑल इंडिया यूनाइटेड वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन) द्वारा आयोजित सम्भागीय बैठक में बतौर मुख्य अतिथि पत्रकार महसंघ के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष केसी शर्मा ने कहा कि लोकतंत्र के तीन स्तंभ तो संबिधान द्वारा मान्य और देश मे सम्मानित और सुरक्षित है लेकिन चौथे स्तंभ को न सम्मान मिल रहा है न सुबिधाये औऱ नही  सुरक्षा की कोई गारंटी ही है।देश मे पत्रकारो की अनमोल एवं उल्लेखनीय भूमिका निभाने के बाद भी लोकतंत्र का चौथा स्तंभ भारतीय संविधान में आज तक जगह नही बना पाया जिसके लिये पत्रकार महासंघ संघर्षरत है।और महासंघ उपरोक्त तीनो स्तम्भो की भांति खबर पालिका के रूप में चौथे स्तंभ को स्थापित कराने को कटिबद्ध है।
श्री शर्मा ने सिंगरौली जिले मे अन्तराज्जीय जुआ अड्डे से सम्बंधित खबर चलाये जाने से बौखलाई सिंगरौली जिले के पुलिस द्वारा खबर प्रकाशित करने वाले पत्रकारो के साथ दुर्व्यवहार करने और पत्रकारो को फर्जी मुकदमे में फसाने की धमकी देने तथा जुआ संचालक और जुआड़ियों को संरक्षण देने की भूमिका की भर्रसना करते हुये इसकी कड़े सब्दो में निंदा की है।उन्होंने कहा है कि पत्रकार महासंघ पत्रकारो का उत्पीड़न व अपमान कत्तई बर्दास्त नहीं करेगा। इस संभंध में यूनियन का  एक प्रतिनिधि मंडल सीघ्र जिले के एसपी सहित रेंज के डीआईजी और आईजी से मिलकर ज्ञापन सौंपते हुये टीआई बैढ़न के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की मांग करेगा।
बैठक को संबोधित करते हुये बतौर विशिष्ट अतिथि प्रदेश उपाध्यक्ष रूपेश चंद्र पाण्डेय ने कहा कि संगठन सीघ्र जिले में पत्रकारों को प्रशिक्षित करने के लिए एक कार्यशाला आयोजित करने पर बिचार कर रहा है।श्री पाण्डेय ने संगठन की गतिविधियों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि पत्रकार महासंघ के प्रयास से प्रदेश के अधिमान्य पत्रकारो को श्रद्धा सम्मान की राशि छः हजार से बढ़ाकर दस हजार कर दिया है और पत्रकार सुरक्षा कानून प्रदेश में लागू करने की घोषणा कर दी है इसके लिये उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री को पत्रकार महसंघ की ओर से प्रसन्नसा करते हुए बधाई दी है।उन्होंने सिंगरौली जिले में पत्रकारों के साथ पुलिसिया दुर्व्यवहार की कड़े सब्दो में निंदा करते हुये उच्च अधिकारियों से मिल कर बात करने की बात कही  है।वही बैठक में पत्रकारों को संबोधित करते हुए पत्रकार महासंघ के सम्भागीय अध्यक्ष दिनेश पाण्डेय ने कहा कि पत्रकार महासंघ पत्रकारो के हितों के लिये समर्पित ही नहीं है बल्कि सतत संघर्षरत रहता है उन्होंने कहा कि जिले के जिस भी पत्रकार के साथ पुलिस ने दुर्व्यवहार किया है वह संगठन के जिला अध्यक्ष के पास लिखित शिकायत प्रस्तुत करें उसे उच्च अधिकारियों से बात कर हर स्थिति में न्याय दिलाया जाएगा।श्री पाण्डेय ने जिला से संभाग तक संगठन को अधिक से अधिक सदस्यता कराकर मजबूत करने पर जोर दिया।
इसके अतिरिक्त अन्य प्रमुख वक्ताओं में सर्ब श्री गोबिंद साह,दीपक सिंह,अब्दुल रशीद,श्रीमान सिंह ,मनोज दुबे ,कांति पाण्डेय, मनोज श्रीवास्तव आदि वक्ताओ ने सर्वसम्मति से पत्रकार एकता पर जोर देते हुए पत्रकारो के मान सम्मान व सुरक्षा के लिए एकजुट होकर संघर्ष करने का आव्हान किया।और सिंगरौली जिले की पुलिस के कार्यप्रणाली पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा है कि सिंगरौली पुलिस पत्रकारो के साथ दुर्व्यवहार करने से बाज आये वर्ना पत्रकार सड़क पर भी उतर सकते है।
 बैठक की अध्यक्षता पत्रकार महसंघ के जिलाध्यक्ष ने की व कार्यकम का संचालन राकेश दुबे ने कीया।अंत मे कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष ने अध्यक्षई उद्बोधन के साथ बैठक के समापन की घोषणा की बैठक में जिले व संभाग से सैकड़ो की संख्या में पत्रकारो ने भाग ली।जिसमें एस. के.दुबे,पीसी मिश्रा, नीरज दुबे,अश्वनी प्रताप सिंह, अजीत पाण्डेय ,पुष्पेंद्र पाण्डेय,अब्दुल रसीद,संतोष सुक्ला,नरेंद्र दुबे,उपेंद्र,रमेश दुबे रजनीश तिवारी ,मोहित दुबे ,अविनाश पाण्डेय,दीपक शर्मा आदि।