ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
किसानों ने सांकेतिक फांसी लगाकर जताया विरोध
December 21, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश

नरसिंहपुर। अपनी विभन्न मांगों को लेकर किसानों ने सांकेतिक फांसी लगाकर विरोध प्रदर्शन किया। राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ के बैनर तले हुए इस कार्यक्रम में वक्ताओं ने अपनी किसानों की समस्याओं के बार में विस्तार से बताया। उनका कहना था कि सरकार किसानों के साथ छल कर रही हैं। किसानों के कर्ज माफी के नाम पर भ्रमित किया गया। अब उनके पास बैंकों के नोटिस आ रहे हैं। 

इससे पहले किसानों ने क्रांति यात्रा निकाली। 18 दिसंबर सतधारा बरमान घाट से प्रारंभ हुई ये यात्रा करेली होते हुए नरसिंहपुर पहुंची। यहां किसानों ने अर्धनग्न प्रदर्शन कर रैली निकाली। यात्रा में शामिल हजारों किसानों ने जंगी प्रदर्शन किया और विशाल रैली निकालकर अपना विरोध दर्ज किया। साथ स्थानीय जनपद मैदान में सभा करके किसानों की समस्या को रेखांकित किया। वक्ताओं ने सभा में शासन ककी किसान विरोधी नीतियों का उल्लेख करते हुए सरकार को कटघरे में खड़ा किया। इसके बाद कलेक्ट्रेट का घेराव कर जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा और सांकेतिक फांसी लगाई। 


इस अवसर पर संघ के संस्थापक चौधरी दर्शन सिंह, जिला अध्यक्ष एकम सिंह पटेल, गाडरवारा तहसील अध्यक्ष राव प्रमोद कुमार, तहसील संयोजक चौधरी रामशरण सिंह कौरव अन्नू पटेल प्रदेश कोषाध्यक्ष नीतिराज सिंह, जिला उपाध्यक्ष बृजमोहन कौरव, संभाग अध्यक्ष देवेंद्र पटेल, संरक्षक वसंत खेरौनिया, यशवंत पटेल, मुन्ना भैया, राजेश भैया, तुलसीराम उपरारिया, गिरधारी पटेल,  नेपाल सिंह गुर्जर सहित हजारों किसान मजदूर मौजूद रहे।