ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
कार्य में लापरवाही खम्हाडीह रोजगार सहायक को पड़ी भारी कलेक्टर सेवा समाप्त करने का दिया निर्देश
December 4, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी


दो दर्जन सचिवो रोजगार सहायको का मानदेय काटने का दिये निर्देश
काल चिंतन संवाददाता,
वैढ़न, सिंगरौली । कलेक्टर श्री केवीएस चौधरी के द्वारा जनपद पंचायत चितरंगी का भ्रमण किया जाकर जनपद पंचायत  सभागार में ग्राम पंचायत सचिवो रोजगार सहायको की बैठक आयोजित कर चल रहे विभिन्न निर्माण कार्यो के प्रगति की समीक्षा की गई। जिसमे ग्राम पंचायत खम्हारडीह के रोजगार सहायक के द्वारा लेबर बजट की उपलंब्धि अति न्यूनतम साथ ही प्रधानमंत्री आवास सहित अन्य कार्यो में घोर लापरवाही बरतने के कारण सेवा से पृथक करने का निर्देश दिया गया।
        कलेक्टर के द्वारा ग्राम पंचायत बगैया बहरीहबा, देवरी प्रथम, बीछी, देवरी द्वितीय के सचिव एवं रोजगार सहायको के द्वारा भी निर्माण कार्यो सहित पंचायतो में सौपे गये दायित्वो का निर्वाहन सही ढंग से नही करने तथा कार्यो के प्रगति निर्धारित मापदण्ड से कम होने के पर सचिवो का चार चार हजार रूपयें एवं रोजगार सहायको का दो दो हजार रूपय मानदेय काटने का निर्देश दिया गया। कलेक्टर ने ग्राम पंचायत गड़वानी,कुडै़निया प्रथम, गोपला, के सचिवो का चार चार हजार एवं रोजगार सहायको का दो दो हजार रूपयें मानदेय काटने का निर्देश दिया गया। इन पंचायतो के सचिवो एवं रोजगार सहायको के द्वारा प्रधानमंत्री आवास, मनरेगा के तहत चल रहे निर्माण कार्य तथा पीडीएस भवन निर्माण के कार्य मे लापहवाही बरती गई थी।  इसके साथ ही ग्यारह पंचायतो में भी पीडीएस भवन निर्माण कार्य में निर्धारित लक्ष्य के अनुसार कार्य नही कराये गये थे। जिस पर कलेक्टर के द्वारा पंचायतो के सचिवो एवं रोजगार सहायको का 15 दिवस का मानदेय काटने का निर्देश दिया।गया।
         विदित हो कि कलेक्टर श्री चौधरी के द्वारा अपने निर्धारित कार्यक्रम के तहत चितरंगी जनपद पंचायत क्षेत्रान्तर्गत चल रहे निर्माण कार्यो के प्रगति की समीक्षा पंचायतवार की गई। तथा पूर्व बैठको के दौरान सभी सचिवो एवं रोजगार सहायको को लक्ष्य आवंटित किये गये थे। इसके बावजूद भी कार्यो में अधिकाश पंचायतो के सचिवो एवं रोजगार सहायको के द्वारा लापरवाही बरती गई। जिस पर आज कलेक्टर ने कठोर कार्यवाही करते हुये निर्देश दिये कि सभी कार्य मापदण्ड के अनुरूप तय समय सीमा पूर्ण कराये जाये। तथा पंचायतो में अधिक से अधिक कार्य प्रारंभ कराये। जिससे मजदूरो का पलायन न हो सके। जल संर्वधन के कार्यो को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराये। कलेक्टर के द्वारा वनाधिकार आमान्य दवो को वनमित्र पोर्टल पर दर्ज कराने निर्देश दिया गया। चितरंगी जनपद पंचायत अंतर्गत 88 ग्राम पंचायतो में 7994 आवेदन अमान्य पाये गये है जिन्हे 25 दिसम्बर तक पोर्टल पर अपलोड करने का निर्देश दिया गया। इसके अलावा उपस्थित सचिवो एवं रोजगार सहायको को पोर्टल पर दर्ज करने का विधिवत प्रशिक्षण भी दिलाया गया।  इसके अलावा नया सवेरा योजना के हितग्राहियो को भौतिक सत्यापन शीघ्र करने का निर्देश दिया गया। बैठक के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज, एसडीएम नीलेश शर्मा, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास संजय खेडकर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत तरूण सहित कार्यपालन यंत्री नायक एवं अभिषेक पाण्डेय, सहायक यंत्री, उपयंत्री आदि उपस्थित रहे।