ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
जिले की पहचान प्रदेश में एक विकसित जिले के रूप में हो:कमलेश्वर पटेल
January 24, 2020 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी


बंद पड़ी नल जल योजनाओ को शीघ्र करें चालू: मंत्री श्री पटेल

वैढ़न,सिंगरौली। सिंगरौली जिले की पहचान प्रदेश में एक विकशित जिले के रूप में हो तथा अभी से ही पेयजल योजनाओ को प्राथमिकता मे लेते हुये कार्य प्रारंभ किया जाये। तथा बंद पड़ी नल जल योजनाओ को शीघ्र चालू करने की कार्यवाही प्रारंभ करे ताकि आगमी गर्मी के दौरान पेयजल की समस्या उत्पन्न न होने पाये। उक्त आशय का निर्देश विगत दिवस विकास खण्ड देवसर अंतर्गत सामुदायिक भवन पोखरा में जिलाधिकारियो के साथ बैठक आयोजित कर श्री कमलेश्वर पटेल मंत्री मध्यप्रदेश शासन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा दिया गया।
       इसके पूर्व कलेक्टर श्री केवीएस चौधरी के द्वारा डीएमएम फण्ड सहित सीएसआर मद से स्वीकृत कार्यो के प्रगति की जानकारी से मंत्री श्री पटेल को अवगत कराया गया। साथ विभिन्न विभागो द्वारा संचालित शासन की जन कल्याणकारी योजनाओ के साथ ही पात्र हितग्राहियो के लाभ वितरण के संबंध में भी अवगत कराया गया। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि जिन मझरे टोलो में अभी तक बिजली नही पहुची है उन मझरे टोलो का सर्वे कर प्रस्ताव तैयार करे। उन्होने कहा कि मेरे भ्रमण के दौरान कुछ ऐस आवेदन प्राप्त हुये है जिनमें बताया कि गया है कि घरो में अभी बिजल विभाग द्वारा कनेक्शन नही दिया गया है परंन्तु बिजली बिल आ रही है। इसे तत्काल सुधारा जाये । उन्होने यह भी निर्देश दिया कि प्रदेश सरकार के द्वारा जहा आम विद्युत उपभोक्ताओ को विद्युत बिल में राहत प्रदान की जा रही है वही ऐसे बकायेदार जिनके द्वारा अपने बकाया राशि का 10 प्रतिशत तक भुगतान किया जा चुका है या करने के लिए कहा गया है उनका न्यायालयीन प्रकरण तैयार न करे।
       मंत्री श्री पटेल ने कहा कि ऋण माफी के दूसरे चरण जो किसान प्रथम चरण से छूट गये थे उनका परीक्षण का ऋणमाफी कार्यवाही पूर्ण करे। उन्होने ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुये कहा कि हर माह कम से कम दो बार स्वास्थ्य शिविर का आयोजन ग्रामीण क्षेत्रो मे किया जाये। ताकि अधिक से अधिक लोगो को स्वास्थ्य सुविधा का लाभ उनके गाव मे ही प्राप्त हो सके। साथ ही ऐसे स्थलो को चिन्हित करे जहा पर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोला जाना आवश्यक है। उनका प्रस्ताव तैयार कर शीघ्र ही शासन के पास भेजा जाना सुनिश्चित करे। वही शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुये निर्देश दिया गया कि शिक्षा के गुणवत्ता में सुधार लाने हेतु और अधिक प्रयास किया जाये। तथा कुछ विद्यालयो को चिन्हित कर हाई स्कूल से हायर सेकन्ड्री में उन्नयन करने हेतु प्रस्ताव तैयार करे।उन्होने महिलाओ को आत्म निर्भर बनाने हेतु अधिक से अधिक स्व- सहायता समूहो का गठन करे।साथ ही इनके द्वारा उत्पादित की गई संब्जियो को बड़ी मण्डियो में भेजने हेतु वाहनो की व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया।
     इसके अलावा भी मंत्री श्री पटेल के द्वारा जिले के सर्वर्गीण विकास हेतु आवश्क सुझाव भी दिये गये। तथा प्रदेश सरकार द्वारा संचालित जन कल्याणकारी योजनाओ का लाभ अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति को पहुचाने हेतु निर्देश दिये गये। उन्होने पुलिस विभाग की भी समीक्षा करते हुये कहा कि जिले में कानून कि व्यवस्था चुस्म दुरस्त रहे जो भी अपराधी हो उस पर कड़ी कार्यवाही की जाये। बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक अभिजीत रंजन, वनमण्डल अधिकारी विजय सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज सहित जिलाधिकारी उपस्थित रहे।