ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
झारखंड चुनाव / राहुल गांधी ने राजमहल में कहा- मैं झूठे वादे करने नहीं आया, मेरा नाम मोदी नहीं है
December 12, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • देश विदेश

रांची. विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को झारखंड के राजमहल पहुंचे। उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधा। राहुल ने कहा- जैसे ही राज्य में कांग्रेस-झामुमो गठबंधन की सरकार बनेगी, यहां के किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा। मैं झूठे वादे करने नहीं आया। मेरा नाम मोदी नहीं है। मैं दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात नहीं करूंगा, लेकिन झारखंड के किसानों का कर्ज माफ होगा।

झारखंड विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के लिए 12 दिसंबर को 17 सीटों पर मतदान होना है। राहुल गांधी राजमहल के बाद महगामा में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। इससे पहले राहुल ने 2 दिसंबर को सिमडेगा में और 9 दिसंबर को हजारीबाग के बड़कागांव और रांची के बीआईटी मेसरा ग्राउंड में चुनावी सभा को संबोधित किया था। 

राहुल गांधी ने कहा

  • 'फैक्ट्रियों में युवाओं को रोजगार मिलता है। मोदी ने नोटबंदी-जीएसटी से आपकी जेब से पैसा निकाल लिया। हेमंत ने बताया कि कुछ ही दिन पहले 15-20 उद्योगपतियों का लाखों-करोड़ रुपए माफ किया गया।' 
  • 'मध्यप्रदेश-छग-राजस्थान में हमारी सरकार बनी, हमने बिल लागू किया। इन राज्यों में गरीबों से जमीन नहीं छिनी जा सकती। छग में टाटा से जमीन वापस लेकर किसानों को दी। यहां आपको धान का 1200 रु. मिलता है जबकि छग में 2500 रु. रेट है। अगर वहां 2500 मिल सकता है तो यहां 1200 क्यों? क्योंकि झारखंड में भाजपा और उनके उद्योगपतियों की सरकार है। हमने छग-राजस्थान-मप्र में किसानों का कर्ज माफ किया।' 
  • 'मोदी ने जेब से पैसा निकाल लिया। गरीबों ने माल खरीदना बंद किया। फैक्ट्रियां बंद हो गई। उन युवाओं का रोजगार खत्म हो गया। 15 मिनट में अगर सरकार अमीर उद्योगपतियों को पैसा देना बंद करे, वहीं पैसा भारत के युवाओं-किसानों को दे तो 15 मिनट में भारत की अर्थव्यवस्था फिर खड़ी हो जाएगा। मोदी डरा हुआ हिंदुस्तान चाहते हैं। वे चाहते हैं यहां की जनता कमजोर और बंटी रहे।'
  • 'मोदी भ्रष्टाचार की बात करते हैं। यहां आते हैं भ्रष्टाचार की बात करते हैं। यहां सीएम भ्रष्ट हैं। मोदी, रघुवर के साथ क्यों खड़े हैं? क्योंकि, मोदी खुद भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा चिन्ह हैं। यहां चुनाव के बाद गठबंधन की सरकार बनेगी। झारखंड गरीब नहीं है। यहां की जनता गरीब है। यहां का किसान-युवा-छोटा दुकानदार गरीब है। गठबंधन की सरकार बनने के बाद धन आपके हाथ में आना शुरू हो जाएगा।' 
  • 'पूरे भारत में तेजी से महंगाई बढ़ रही है। ये सभी को मालूम है, लेकिन शायद पीएम को नहीं मालूम। वो दूसरी दुनिया में रहते हैं। ये महंगाई बढ़ क्यों रही है? किसान दुखी है। मजदूर दुखी है। दुकानदार दुखी है। बेरोजगार युवा दुखी है। अडाणी खुश है। 15 से 20 भारत के सबसे बड़े उद्योगपति को दिनभर 24 घंटे मोदी पैसा पकड़ाते हैं। झारखंड की जनता का पैसा, गरीबों का पैसा होता है।' 
  • 'जीएसटी से पहले याद रखिए, आठ बजे रात को मोदी टीवी पर आए थे। कहा- काले धन के लिए लड़ाई लड़नी है। 500 का नोट बदलना है। सभी को लाइन में खड़ा कर दिया। सबके घर से पैसा निकाला। कहां गया वो लाखों करोड़ रुपया? ये पैसा मोदी ने भारत के 10 से 20 उद्योगपतियों को दे दिया। लाइन में आपने बड़े उद्योगपति को देखा? सबके सब अपनी एसी गाड़ी में घूम रहे थे। काला धन सफेद कर रहे थे। मोदी ने उन्हें मौका दिया।' 
  • '12 बजे रात को गब्बर सिंह टैक्स लगाया। इसका मतलब गरीबों से पैसा छिन लो और उद्योगपतियों को दे दो। 24 घंटे मोदी यही काम करते हैं। मोदी टीवी पर 24 घंटे आते हैं। उनके टीवी पर आने के लिए उद्योगपति ही पैसा देते हैं। टीवी उन्हीं उद्योगपतियों का है, जिसे मोदी पैसा देते हैं। हमारा चेहरा नहीं दिखेगा, हम पैसे नहीं देते, हम गरीबों और मजदूरों के लिए काम करते हैं।' 
  • 'हम जमीन अधिग्रहण बिल लाए, मोदी ने उसका विरोध किया। ये बिल से पहले किसी भी गरीब की जमीन उससे एक मिनट में छिनी जाती थी। हम बिल लाए, उसे आप पढ़ोगे तो उसमें लिखा है कि बिना गरीब आदिवासी किसान से पूछे जमीन नहीं ली जा सकती। अगर देनी चाहे तो मार्केट रेट से चार गुना पैसा उसके अकाउंट में जाएगी, तब जमीन ली जाएगी। मोदी ने इसका विरोध किया।' 

राजमहल और महगामा विधानसभा सीट पर सीधा मुकाबला
राजमहल विधानसभा सीट पर भाजपा के अनंत ओझा और गठबंधन (झामुमो) प्रत्याशी कुतुउद्दीन शेख के बीच सीधा मुकाबला है। 2014 के विधानसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार अनंत कुमार ओझा ने झारखंड मुक्ति मोर्चा के मोहम्मद ताजुद्दीन को हराया था जबकि 2005 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी थॉमस हंसदा ने जीत दर्ज की थी। वहीं, महगामा विधानसभा सीट गोड्डा लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है। महगामा से भाजपा के अशोक कुमार और कांग्रेस की दीपिका पांडे सिंह के बीच सीधा मुकाबला है। 2014 में इस सीट से भारतीय जनता पार्टी के नेता अशोक कुमार विधायक चुने गए थे। उन्होंने जेवीएम के शाहिद इकबाल को हराया था। अशोक कुमार यहां से 2000 और 2005 में विधायक बने थे। 2009 के चुनाव में उन्हें कांग्रेस के राजेश रंजन से हार का सामना करना पड़ा। फिर 2014 में अशोक कुमार तीसरी बार विधायक चुने गए।

पांचवे चरण के तहत 20 दिसंबर को 16 सीटों पर डाले जाएंगे वोट
झारखंड विधानसभा चुनाव के तहत पांचवें व अंतिम चरण में 16 सीटों पर 20 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे। इन सीटों में राजमहल, बोरियो, बरहेट, लिट्टीपाड़ा, पाकुड़, महेशपुर, शिकारीपाड़ा, नाला, जामताड़ा, दुमका, जामा, जरमुण्डी, सारठ, पोड़ैयाहाट, गोड्डा और महगामा शामिल है।