ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
झारखंड चुनाव / मोदी ने कहा- अब कांग्रेस और जेडीएस लोगों के साथ विश्वासघात नहीं कर सकेगी, कर्नाटक की जनता ने राज्य में स्थिर सरकार दी
December 9, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • देश विदेश

रांची. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बरही में चुनावी सभा को संबोधित किया। उन्होंने झारखंड के हजारीबाग में कहा- आज कर्नाटक के लोगों ने सुनिश्चित कर दिया है कि अब कांग्रेस और जेडीएस वहां के लोगों के साथ विश्वासघात नहीं कर पाएगी। अब कर्नाटक में जोड़-तोड़ वाली नहीं, वहां की जनता ने एक स्थिर और मजबूत सरकार को ताकत दे दी है। इसके बाद मोदी बोकारो में भी चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। मोदी का झारखंड में यह तीसरा दौरा है। मोदी इससे पहले चुनाव प्रचार के लिए 25 नवंबर और तीन दिसंबर को झारखंड आ चुके हैं। बरही में 12 दिसंबर और बोकारो में 16 दिसंबर को मतदान होना है।

बरही सीट पर भी भाजपा से कांग्रेस की टक्कर
बरही सीट पर तीसरे चरण के तहत जबकि बोकारो में चौथे चरण में मतदान होना है। बरही सीट से भाजपा प्रत्याशी मनोज यादव अक्टूबर में भाजपा में शामिल हुए थे। मनोज यादव कांग्रेस के टिकट पर बरही सीट से चार बार विधायक रह चुके हैं। वहीं, इस सीट पर मनोज यादव का मुकाबला कांग्रेस के उमाशंकर अकेला से है। उमाशंकर अकेला पहले भाजपा में थे। उन्होंने 2009 में कांग्रेस के उम्मीदवार मनोज यादव को हराया था।

मोदी ने बरही में सभा में कहा-

  • 'ये भीड़ झारखंड की जनता के मिजाज को बताती है। यहां के लोगों के दिल में विकास के प्रति कितना विश्वास है, ये मैं जनसागर में देख रहा हूं। मुझे झारखंड में जहां-जहां जाने का मौका मिला, हर सभा पहले की सभी सभा का रिकॉर्ड तोड़ रही है। आपने पुरानी सभी सभा की रिकॉर्ड तोड़ दिया है। आपने खड़े होकर मुझे आशीर्वाद-सम्मान दिया। आपका आभारी हूं।'
  • 'देश राजनीतिक स्थिरता को लेकर क्या सोच रहा है? इसके लिए भाजपा पर कितना पर विश्वास देश को है? उसका उदाहरण आज ही देश के सामने आया है। साउथ में लोग कहते हैं कि भाजपा कमजोर है, आज ही कर्नाटक में उपचुनाव के परिणाम आ रहे हैं। उपचुनाव में कर्नाटक में वहां की जनता का दोह करने वालों का जनता ने जो मैंडेट दिया था, उसे पिछले दरवाजे से छिन लेने वालों को कर्नाटक की जनता ने प्रहार किया है। देश में इस प्रकार की राजनीति करने वालों को कर्नाटक की मतदाताओं ने लोकतांत्रिक तरीके से उनके मनसूबों को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया है।'
  • 'झारखंड में स्थिर और स्थाई सरकार बने ताकि पांच साल तक विकास हो। गरीब का भला नौजवानों का भविष्य बने यही काम हो। कर्नाटक के परिणाम को याद रखना जरूरी है। कांग्रेस और सहयोगियों के एक-एक उम्मीदवार को झारखंड में हराना जरूरी है। आप बताइए पूरी दुनिया में हिंदुस्तान का डंका बज रहा है कि नहीं? ये पूरी दुनिया में हिदुस्तान की जय-जय कार का कारण मोदी नहीं, ये आपके कारण है।'
  • 'ये कांग्रेस ही है जिसने भगवान राम की जन्मभूमि को लेकर चल रहे विवाद को अपनी वोट बैंक की राजनीति के लिए दशकों तक लटकाए रखा। ये फैसला भी तब आया जब आपने दिल्ली में भाजपा की मजबूत सरकार बनाई। अगर त्रिशंकु परिणाम आता है तो कर्नाटक की तरह तबाह करने वाले मैदान में आ जाते हैं। हम तय करें कि हम झारखंड को बर्बाद नहीं होने देंगे।'

  • 'राजनीति में कांग्रेस ने हमेशा दो काम प्राथमिक रूप से किए हैं। एक - लूट का खेल। खुद भी लूटो, औरों को भी लूटने दो। दूसरा - लटकाने का। ये अगर नहीं लूट सके, तो उसे लटका देते हैं। कांग्रेस, राजद और झामुमो का इतिहास है, आपसी विश्वासघात और भ्रष्टचार का। 2014 से पहले आठ-नौ साल में आदिवासियों को जमीन के सिर्फ 19 हजार पट्टे मिल पाए थे। भाजपा सरकार ने 5 साल में 7 हजार से अधिक पट्टे दिए।'

मोदी ने बोकारो में हुई सभा में कहा-

  • 'गठबंधन झारखंड को लूटने के लिए मशक्कत कर रहा है। ऐसे समय जब आपके पास आया हूं तो आज देश के एक और राज्य ने बहुत बड़ा फैसला दिया है। यहां आने से पहले आपने टीवी पर देखा होगा कर्नाटक में उपचुानव के नतीजे आए हैं। ये सामान्य उपचुनाव नहीं है। कर्नाटक में चुनाव नतीजा आया उससे कर्नाटक की सरकार का भविष्य तय हो गया।'
  • 'कर्नाटक के चुनाव से तीन बड़े संदेश निकले हैं। पहला- देश की जनता स्थिर और स्थायी सरकार चाहती है। दूसरा- कांग्रेस और उसके साथी जो पिछले दरवाजे से सत्ता पाने के लिए जनादेश को धोखा देते हैं, जनता चुप रहती है, लेकिन पहला मौका मिलते ही सबक के साथ सूपड़ा साफ कर देती है। तीसरा- देश में स्थिर और विकास के लिए समर्पित सरकार के लिए जनता का भरोसा सिर्फ भाजपा पर है।'
  • 'झारखंड का भाजपा के प्रति प्यार है। झारखंड का मुझ पर कर्ज है। यहां सरकार बनाइए मुझे कर्ज चुकाने का मौका दीजिए। भाजपा आपको स्थिर सरकार दे सकती है। ये फैसला करना तब और आसान होगा जब आप 2014 से पहले और आज की स्थितियों की तुलना करेंगे।'
  • 'तेजी से काम तभी हो सकता है, जब केंद्र और राज्य में डबल इंजन की सरकार हो। एक ही लक्ष्य को लेकर चलने वाली सरकार हो। हमारी सरकार में जो डिजाइन घर के लिए घर का मालिक सोचता है, वैसा घर बनता है। सरकार उसके खाते में सीधा पैसा जमा करती है। बीच में कोई बिचौलिया नहीं होता।' 

बोकारो सीट पर भी कांग्रेस और भाजपा में सीधा मुकाबला

बोकारो से भाजपा के प्रत्याशी विरंची नारायण हैं। वहीं, झारखंड सरकार के पूर्व मंत्री समरेश सिंह की पुत्रवधु श्वेता सिंह को कांग्रेस ने प्रत्याशी बनाया है। 2005 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के मोहम्‍मद इजराइल अंसारी ने जीत हासिल की थी। इसके बाद 2009 के चुनाव में यहां से झारखंड विकास मोर्चा के टिकट पर समरेश सिंह विधायक चुने गए थे। 2014 में भाजपा के विरंची नारायण ने समरेश सिंह को हरा दिया था।

चुनाव प्रचार के लिए इतने नेता झारखंड आए 
प्रधानमंत्री मोदी के अलावा झारखंड में चुनाव प्रचार करने के लिए आने वाले भाजपा नेताओं में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी, सांसद रवि किशन, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी शामिल हैं।

तीसरे चरण में 12 दिसंबर को 17 सीटों पर मतदान
झारखंड विधानसभा चुनाव के तहत तीसरे चरण में 12 दिसंबर को बड़कागांव समेत 17 सीटों पर मतदान होगा। इसमें कोडरमा, बरकट्ठा, बरही, मांडू, हजारीबाग, सिमरिया, बड़कागांव, रामगढ़, धनवार, गोमिया, बेरमो, ईचागढ़, सिल्ली, खिजरी, रांची, हटिया और कांके विधानसभा सीट शामिल है।