ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
झारखंड चुनाव में भी 'घुसपैठिए': अमित शाह का राहुल पर वार, 'आपके चचेरे भाई लगते हैं क्या'
December 2, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • राजनीति
रांची
झारखंड विधानसभा चुनावों में भी 'घुसपैठिए' का मुद्दा गूंज रहा है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को यहां एक रैली में इसे लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा। अमित शाह ने कहा, 'ये राहुल बाबा कहते हैं कि एनआरसी क्यों ला रहे हो? घुसपैठियों को क्यों निकाल रहे हो? कहां जाएंगे, क्या कहेंगे? क्यों भाई आपके चचेरे भाई लगते हैं क्या? 2024 के पहले देश से एक-एक घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालने का काम भाजपा सरकार करने वाली है।' झारखंड चुनाव के दूसरे चरण के लिए बहरागोड़ा से पहले अमित शाह ने राज्य के चक्रधरपुर में रैली को संबोधित किया।
चक्रधरपुर में रैली

यहां रैली में अमित शाह ने कहा- पिछले पांच साल में नरेंद्र मोदी सरकार और रघुबर दास सरकार ने नक्सलवाद का झारखंड से खात्मा कर विकास का मार्ग प्रशस्त किया है। सत्ता की खातिर आज हेमंत सोरेन कांग्रेस की गोद में बैठकर सीएम बनना चाहते हैं। उनका उद्देश्य सत्ता हासिल करना है लेकिन भाजपा का मकसद राज्य को विकास के मार्ग पर आगे बढ़ाना है।

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेता सर्वोच्च अदालत में जाकर कहते थे कि राम जन्म भूमि का केस चलाने की जरूरत नहीं है। आप लागों की ताकत से हमने आग्रह किया कि केस चलना चाहिए। जिसका परिणाम ये आया है कि सुप्रीम कोर्ट ने जजमेंट दिया है कि अयोध्या में ही राम मंदिर बनेगा।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि ओबीसी समाज के भाइयों-बहनों को न्याय दिलाने के लिए भाजपा बहुत सारी योजनाएं लेकर आई है। अमित शाह ने कहा कि मैं आज राहुल गांधी चैलेंज देने आया हूं कि आपके 55 साल का शासन और हमारे पांच साल का शासन का हिसाब लेकर मैदान में आ जाओ। एनआरसी की चर्चा करते हुए शाह ने कहा कि इस देश से घुसपैठिये बाहर जाने चाहिए या नहीं? लेकिन कांग्रेस पार्टी कहती है कि घुसपैठियों को मत निकालों। लेकिन ये मोदी जी की सरकार है, 2024 में जब हम आपसे दोबारा वोट मांगने आएंगे उससे पहले ही पूरे देश में एनआरसी लगाकर घुसपैठियों को चुन-चुन कर देश से निकाल बाहर करें
चक्रधरपुर से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लड़ रहे चुनाव
राज्य के चक्रधरपुर में भाजपा ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मम गिलुवा को चुनावी मैदान में उतारा है। गिलुवा का मुकाबला झारखंड मुक्ति मोर्चा के सुखराम उरांव और झारखंड विकास मोर्चा के शशिभूषण समद से है।
वहीं, बहरागोड़ा सीट से भाजपा के कुणाल षाड़ंगी मैदान में हैं, जिनका मुकाबला झामुमो के समीर मोहंती से है। गौरतलब है कि कुणाल हाल ही में झामुमो छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं। जबकि झामुमो प्रत्याशी समीर मोहंती टिकट ने मिलने से नाराज होकर भाजपा छोड़ झामुमो में शामिल हुए हैं।
बता दें कि झारखंड विधानसभा चुनाव के तहत दूसरे चरण में सात दिसंबर को सिमडेगा समेत 20 सीटों पर मतदान होंगे।