ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
जम्मू-कश्मीर / नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन, भारत की जवाबी कार्रवाई में 2 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए
December 21, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • देश विदेश

श्रीनगर. पाकिस्तानी सेना ने शनिवार को जम्मू-कश्मीर में शनिवार को संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। राजौरी जिले के केरी बटाल और सुंदरबनी सेक्टर में एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से मोर्टार दागे गए। रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, भारतीय सेना ने भी इस गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया। इस दौरान पाकिस्तान के दो सैनिक मारे गए।

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) स्थित नीलम घाटी की चौकियों से शुक्रवार रात भी भारतीय सीमा में फायरिंग हुई थी। इसके बाद अखनूर सेक्टर में भी दोनों तरफ से भारी गोलाबारी हुई, जिसमें पाकिस्तान को खासा नुकसान पहुंचा।

इमरान खान ने कहा- हमें भारत से खतरा

सीमा पर सेना की जवाबी कार्रवाई के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत से खतरे की बात कही। हालांकि, इमरान सेना प्रमुख जनरल जनरल बिपिन रावत के बयान का हवाला देते हुए एक बार कश्मीर का राग अलापने से नहीं चूके।

सेना प्रमुख ने एलओसी के हालात बताए

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने भी कुछ दिन पहले कहा था कि पाकिस्तान के साथ लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर तनाव पैदा हो सकता है। जनरल रावत ने कहा, ''सीमा पर स्थिति कभी भी बिगड़ सकती है, लेकिन हमारी सेना पूरी ताकत से जवाब देने के लिए तैयार है।'' 

नियंत्रण रेखा पर लगातार गोलीबारी

पिछले कई दिनों से पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर तंगधार और कंजलवाड़ सेक्टर में गोलीबारी कर रहा है। कुछ दिन पहले जम्मू-कश्मीर के सुंदरबनी सेक्टर में भी पाकिस्तान की बैट टीम ने फायरिंग की थी, जिसमें एक जवान शहीद हो गया था, जबकि जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के दो सैनिक मारे गए थे। 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद, पाकिस्तान की तरफ से गोलीबारी की घटनाएं बढ़ गई हैं।