ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
हिण्डालको महान आई0एस0ओ0 45001:2018 सम्मान से प्रमाणित
December 31, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी


काल चिंतन संवाददाता,
बरगवां,सिंगरौली। हिण्डालको महान सुरक्षा प्रथम को प्राथमिकता देते हुये सदैव सुरक्षा के प्रति गम्भीर रहा है शून्य दुर्घटना के प्रति अपनी जिम्मेदारील निभाते हुये औद्यौगिक परिवेष में कड़ाई से सुरक्षा के नियमो का अनुपालन किया जाता है इसके लिये औद्यौगिक संस्थान का सुरक्षा विभाग 24 घण्टे और 365 दिन अपनी भूमिका अदा करता रहता है। सुरक्षा के अनुपालन हेतु आई0एस0ओ0 - 45001:2018 के अन्तर्गत आने वाला पूरे हिण्डालको धातु व्यवसाय में पहली ईकाइ है जिसे ब्रिटिष मानक संस्थान बी0एस0आई0 द्वारा स्वास्थ्य एवं सुरक्षा के क्षेत्र में अनुपालन के लिये प्रमाणित किया गया है। ज्ञातव्य यह है कि ब्रिटिष मानक संस्थान एक उत्कृष्ट संस्था है जो इस तरह के प्रमाण पत्र जारी करती है। इस प्रमाण पत्र को जारी करने के पहले ब्रिटिष मानक संस्थान के द्वारा दो चरणो की जांच की गई थी जिसमें उनके जांच विषेषज्ञ जांच अधिकारीयो द्वारा सुरक्षा मान के अनुपालन से सम्बन्धित जांच कि गई थी। पहले चरण के जांच के पश्चात वे सुरक्षा मानको के अनुपालन लेकर संतुष्ट दिखे फिर भी कुछ विषयो पर ध्यान देने को कहा जिसे पूरे महान ने एक चुनौती के रुप में लिया। दुसरे चरण के जांच में भी महान को इस प्रतिष्ठित सुरक्षा प्रमाण पत्र के लिये पात्रता दिलाया। महान सुरक्षा विभाग के प्रमुख श्री गिरीजा प्रसाद पांडा के नेतृत्व व परियोजना प्रमुख श्री रतन सोमानी, प्लांट प्रमुख श्री समीर नायक व श्री सेन्थील नाथ के मार्गदर्षन में इस प्रतिष्ठित प्रमाण पत्र आई0एस0ओ0 - 45001 को हासिल किया गया। इसी क्रम में दो माह पूर्व ''फिक्की'' भारतीय औद्यौगिक एवं व्यवसाय संघ के द्वारा भी महान को सुरक्षा मानको अनुपालन के लिये प्रसंषा पत्र दिया जा चूका है। वही इस प्रमाण पत्र के मिलने से कम्पनी प्रबन्धन व कर्मचारियो में खुषी व्याप्त है।