ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
दिल्ली में भीषण ठंड के बाद अब कोहरा की मार
December 30, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश


कई राज्यों में बुरा हाल, नोएडा में 6 की मौत
भोपाल/नई दिल्ली। रिकॉर्डतोड़ सर्दी के बाद दिल्ली-एनसीआर समेत पूरा उत्तर भारत अब घने कोहरे की चपेट में है। सुबह 7 बजे राजधानी दिल्ली लो विजिबलिटी के कारण गायब ही नजर आई। घने कोहरे का असर ट्रेनों के साथ-साथ उड़ानों पर भी पड़ा है। कोहरे का असर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर भी देखने को मिल रहा है। दिल्ली में रविवार को न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। भीषण सर्दी को देखते हुए आनंद विहार इंटर स्टेट बस टर्मिनल (आईएसबीटी) के नजदीक बने रैन बसेरे में रात के वक्त लोगों ने शरण ली। वहीं, दिल्ली में तुर्कमान गेट क्षेत्र के पास बेघर लोग गलियों में सोते हुए नजर आए। उत्तर भारत में भीषण ठंड से राहत नहीं मिल रही है। ऐसे में कई जगहों पर स्कूलों को बंद करने का निर्देश दिया गया है।
ट्रेनें और उड़ानों पर असर
जबरदस्त कोहरे के कारण दिल्ली आने वाली कई ट्रेनें देरी से चल रही हैं। उत्तर रेलवे की दिल्ली आने वाली कम से कम 30 ट्रेनें घने कोहरे के कारण देरी से चल रही हैं। इसके अलावा दिल्ली एयरपोर्ट पर कोहरे के कारण नॉर्मल ऑपरेशंस रोक दिए गए हैं। तीन फ्लाइट्स के रूट डायवर्ट किए गए हैं।
1997 के बाद दूसरा सबसे ठंडा दिसंबर
मौसम विभाग के अनुसार इस साल दिसंबर में रविवार तक का औसत तापमान 19.07 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और यह 1901 के बाद दूसरा सबसे ठंडा दिसंबर हो सकता है। इससे पहले दिसंबर 1997 में औसत तापमान 17.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। आर्द्रता का स्तर 64 से 100 प्रतिशत के बीच रहा। मौसम विज्ञानियों ने सोमवार सुबह घने कोहरे का पूर्वानुमान व्यक्त किया है।
पहाड़ों में हो सकती है बर्फबारी
मौसम विभाग के मुताबिक, पहाड़ों में भी नए साल की पूर्व संध्या पर बर्फबारी हो सकती है। राजस्थान के कई हिस्सों में कड़ाके की सर्दी और शीतलहर के कारण आम जनजीवन प्रभावित हो गया है। राज्य के एकमात्र पर्वतीय पर्यटक स्थल माउंट आबू में रविवार को इस मौसम का सबसे कम तापमान रहा। यहां न्यूनतम तापमान शून्य से तीन डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।  
यूपी के कई जिलों में गिरा तापमान
उत्तर प्रदेश के ज्यादातर इलाके इस वक्त शीतलहर की चपेट में हैं। बरेली, मुरादाबाद, गोरखपुर, आगरा और मुरादाबाद मंडलों में दिन के तापमान में खासी गिरावट दर्ज की गई। वहीं झांसी, वाराणसी, फैजाबाद, कानपुर, लखनऊ, इलाहाबाद, बरेली, मुरादाबाद, आगरा तथा मेरठ मंडलों में रात का तापमान सामान्य से काफी नीचे रहा।
डल झील जम गई
मशहूर डल झील के कई हिस्से बर्फ में तब्दील हो गए और रात में श्रीनगर का तापमान शून्य से 6.2 डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया। कश्मीर घाटी और लद्दाख केंद्र शासित क्षेत्र में तापमान जमाव बिंदु से कई डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। इससे क्षेत्र में शीतलहर तेज हो गई है। उन्होंने बताया कि श्रीनगर में शनिवार रात पारा शून्य से 6.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया जबकि इससे पिछली रात तापमान शून्य से 5.8 डिग्री सेल्सियस कम था। शहर में यह इस सीजन की सबसे सर्द रात थी, जिसके बाद डल झील के कई हिस्से बर्फ में तब्दील हो गए।