ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
दीर्घ सेवा देने के उपरांत एनटीपीसी-विंध्याचल के 07 कर्मचारी हुए सेवानिवृत्त
November 30, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी


एनटीपीसी-विंध्याचल परियोजना मेँ दिनांक 30.11.2019 को अपनी दीर्घ सेवा देने के पश्चात कुल 07 कर्मचारी सेवानिवृत्त हुए। सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारी इस प्रकार से हैं : - श्री सुधांशु सेखर मंडल, महाप्रबंधक (रसायन), श्री ब्रजेन्द्र प्रकाश सिंह, सहायक प्रबंधक (ई एम डी), श्री वी टी उदयपन ,कार्यपालक सचिव (एच ओ पी), श्री गौतम कुमार बोस, सब इंजीनियर (रसायन), श्री रघुनाथ सरन सिंह, जूनियर इंजीनियर (प्रचालन), श्री आनंद कुमार वर्मा, सब इंजीनियर (एम एम), श्री माधव प्रसाद कुशवाहा, आपरेटर (प्राचलन एवं अनुरक्षण) ।
एनटीपीसी-विंध्याचल प्रबंधन द्वारा सेवानिवृत्त होने वाले सभी कर्मचारियों का सम्मान परियोजना के मैत्री सभागार में बैंड बाजे के साथ किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ एनटीपीसी गीत के साथ हुआ। इसके पश्चात परियोजना की यूनियन/एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने फूल माला पहनाकर अतिथि कर्मचारियों का स्वागत किया। तत्पश्चात मुख्य महाप्रबंधक (विंध्याचल), श्री सुनील कुमार ने सेवानिवृत होने वाले कर्मचारियों का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया। स्वागत कड़ी के अंत में कार्यकारी निदेशक (विंध्याचल), श्री देबाशीष सेन नें सभी सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया । इसके पश्चात सभी कर्मचारियों की एनटीपीसी मेँ दी गई सेवाओं का संक्षिप्त परिचय दिया गया। 

इसके पश्चात मुख्य महाप्रबंधक (विंध्याचल), श्री कुमार नें सभी सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को दीर्घ सेवा योगदान के लिए बधाइयाँ दी तथा उनके द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की । इसके साथ ही नई पारी के लिए उनके उत्तम स्वास्थ्य व उज्जवल भविष्य की कामना की ।

कार्यक्रम की अगली कड़ी में कार्यकारी निदेशक (विंध्याचल), श्री देबाशीष सेन नें सभी सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों की सराहना करते हुए कहा कि एनटीपीसी-विंध्याचल को वर्तमान ऊंचाइयों तक पहुंचाने में आपके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा और एनटीपीसी-विंध्याचल सदा ही आपकी सेवा के लिए आपका कृतज्ञ रहेगा । उन्होने सेवानिवृत्त होने वाले सभी कर्मचारियों के विषय मेँ कहा कि आप सभी ने उस समय एनटीपीसी-विंध्याचल में कार्य आरंभ किया, जब यहाँ कुछ भी नहीं था, अर्थात इस परियोजना को शून्य से शिखर तक पहुंचाने मेँ आपका सराहनीय योगदान रहा है । मुझे ऐसा लगता है कि जब आप लोग आज के समय की तुलना उस समय से करते होंगे, जब आप लोगों ने एनटीपीसी में कार्य आरंभ किया था, तो निश्चित ही आप लोगों को गर्व का अनुभव हुआ होगा । श्री सेन ने सभी सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को अपने जीवन की नई पारी की नए सिरे से शुरुआत करने हेतु शुभकामनायें दीं तथा सभी के उत्तम स्वास्थ्य की कामना की । 

सम्मान की कड़ी में सेवानिवृत्त होने वाले सभी कर्मचारियों को कार्यकारी निदेशक (विंध्याचल), नें स्मृति-चिन्ह एवं शाल से सम्मानित किया । साथ ही सभी सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को सम्मानित करते समय उनके परिजनों को भी मंच पर आमंत्रित कर इस भावुक क्षण को उनके लिए यादगार बनाने का प्रयास किया गया । इसके अतिरिक्त सभी सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को एनटीपीसी मेँ उनके द्वारा दी गई दीर्घ सेवाओं के लिए दीर्घ सेवा प्रमाण-पत्र, सोने का सिक्का एवं श्री फल भी प्रदान किया गया ।  

इसके बाद सेवानिवृत्त होने वाले सभी कर्मचारियों ने बारी-बारी से सभा को संबोधित करते हुए एनटीपीसी से जुड़ी अपनी यादों को साझा किया, जिसमें उनकी ओर से इस बात का विशेष वर्णन किया गया कि किस प्रकार एनटीपीसी ने उन्हें एवं उनके परिवार को सिर उठाकर समाज मेँ जीने का अवसर प्रदान किया । सभी नें इस बात का भी उल्लेख किया कि एनटीपीसी की बदौलत आज उनके बच्चे पढ़-लिखकर अच्छी जगहों पर स्थापित हो गए हैं और अपने परिवार को संभाल रहे हैं । सभी नें एनटीपीसी में अपने बिताए समय को अविस्मरणीय कहा । उन्होने कहा कि उनकी पहचान एनटीपीसी के कारण ही बनी है और वे अपने आप को गौरवान्वित महसूस करते हैं । इसी के साथ सेवानिवृत्त होने वाले सभी कर्मचारियों ने सभी सहकर्मियों को उनके सहयोग एवं सानिध्य के लिए विशेष तौर से धन्यवाद दिया।

अभिनंदन समारोह के दौरान कार्यकारी निदेशक (विंध्याचल), श्री देबाशीष सेन, मुख्य महाप्रबंधक (विंध्याचल), श्री सुनील कुमार के अलावा महाप्रबंधक (प्रचालन), श्री राजीव सूबेदार, महाप्रबंधक (ई एम डी ),  श्री सांतनु कुमार मिश्रा, महाप्रबंधक (परियोजना), श्री पी के गोयल, महाप्रबंधक (तकनीकी सेवाएँ), श्रीमती संगीता कौशिक, महाप्रबंधक (एफ टी), श्री पुष्पेंद्र कुमार, अपर महाप्रबंधक (मानव संसाधन), श्री एस भट्टाचार्य, विभिन्न विभागों के अपर महाप्रबंधकगण तथा विभागाध्यक्षों के साथ-साथ कर्मचारी एवं उनके परिवार जन भी उपस्थित रहे । 

अभिनंदन समारोह का संचालन एवं धन्यवाद प्रबन्धक, मानव संसाधन श्रीमती कामना शर्मा ने किया । कार्यक्रम के अंत में इस क्षण को अविस्मरणीय बनाने के लिए सेवानिवृत्त होने वाले सभी कर्मचारियों के साथ कार्यकारी निदेशक (विंध्याचल), श्री देबाशीष सेन के साथ एक सामूहिक एवं सभी सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों की व्यक्तिगत फोटोग्राफ भी ली गई। इस अवसर पर सभी सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों ने पर्यावरण संरक्षण की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए मैत्री सभागार में वृक्षारोपण भी किया।