ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
डीपीएस निगाही में हिन्दी कविता पाठ एवं मुशायरा का आयोजन
December 6, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी

तेरह विजित प्रतिभागियों में से दस पर बालिकाओं का कब्जा,पाँच-पाँच पुरस्कार लेकर रावी एवं सतलज सदन ने मारी बाजी
वैढ़न,सिंगरौली। दिल्ली पब्लिक स्कूल निगाही में अन्तर-सदनीय हिन्दी कविता पाठ एवं मुशायरा प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।इसकी जानकारी देते हुए प्राचार्य सुखवंत सिंह थापर ने बताया कि हिन्दी एवं उर्दू साहित्य के प्रति स्वाभाविक अभिरूचि विकसित करने के उद्देश्य से यह प्रतियोगिता प्रतिवर्ष कराई जाती है।इस अवसर पर बच्चों के अभिभावकों ने भी शिरकत करके उनकी हौसला आफजाई की।
ज्ञात हो कि यह प्रतियोगिता चारों सदनों के चारों समूहों के लिए अलग- अलग विषयों पर आयोजित की गयी।समूह ए की दूसरी एवं तीसरी कक्षा के लिए कविता का विषय खिलौना,समूह बी की चौथी एवं पाँचवीं के लिए कविता पाठ का विषय वात्सल्य,समूह सी की छठी से आठवीं के लिए कविता पाठ का विषय अहिंसा एवं समूह डी की नौवीं से बारहवीं कक्षा के लिए मुशायरा का विषय उम्मीद निर्धारित किया गया था।बच्चों ने अपनी क्षमतानुसार अच्छी तैयारी करके अपनी प्रस्तुति की।
निर्णायक मंडल के सदस्यों डा एन पी मिश्र, बी पी द्विवेदी एवं डा  रत्नेश सिन्हा ने प्रतिभागियों द्वारा प्रस्तुत कविताओं,गजलों एवं नज्मों का सूक्ष्मता से अनुशीलन कर समुचित निर्णय दिए।अपने संबोधन में बी पी द्विवेदी एवं रत्नेश सिन्हा ने बच्चों की प्रस्तुतियों की प्रशंसा की एवं आवश्यक निर्देश दिए।इसके पश्चात कुछ बच्चों के अलावा गणित शिक्षक अनिल पांडेय ने भी कविताएँ एवं गजल सुनाए।
इसके पूर्व प्रतियोगिता प्रभारी एन पी मिश्र ने प्रतियोगिता संबंधी सामान्य जानकारी दी एवं छठी कक्षा की जाह्नवी को स्वागत भाषण के लिए आमंत्रित किया एवं इसके बाद उद्घोषणा कार्य के लिए वंशिका सिंह,अनुराज दुबे,जाह्नवी एवं अभिरूपा विश्वास को निर्देशित किया।धन्यवादज्ञापन सत्यम आनंद ने किया।
प्राचार्य श्री थापर ने अपने संबोधन में आगंतुक अभिभावकों के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करते हुए प्रतिभागियों के काव्य पाठ एवं वरीय छात्र-छात्राओं द्वारा प्रस्तुत गजलों एवं नज्मों की भूरि-भूरि प्रशंसा की एवं उन्हें हिन्दी एवं उर्दू साहित्य की श्रेष्ठ रचनाओं के अध्ययन की सलाह दी।
विजित प्रतिभागियों के नामों की घोषणा करते हुए पी ज्योति ने बताया कि कविता पाठ में से समूह ए के झेलम सदन की शैव्या द्विवेदी ने तीसरा,झेलम की ही संस्कृति नामदेव ने दूसरा तथा रावी की यश्वी सिंह ने पहला,समूह बी के सतलज की नव्या सोनी ने तीसरा,रावी की अवंतिका सिंह परिहार ने दूसरा एवं रावी की ही अवनि पांडेय ने पहला,समूह सी के रावी की अंशिका पांडेय ने तीसरा,सतलज की वीणा सोनी ने दूसरा तथा सतलज के ही उत्कर्ष सिंह ने पहला जबकि मुशायरा के लिए सतलज की अनुषा सेनापति एवं रावी के अनादि शंकर श्रीवास्तव ने तीसरा,गंगा सदन के सृजन पांडेय ने दूसरा तथा सतलज सदन के भानु प्रकाश जायसवाल ने पहला स्थान प्राप्त किया।प्राचार्य श्री थापर ने इन्हें स्मृति-चिह्न प्रदान कर प्रोत्साहित किया।इसके उपरांत राष्ट्रगान हुआ और प्रतियोगिता संपन्न हुई।