ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
डीएम फण्ड से स्वीकृत निर्माण कार्यो की प्रगति की समीक्षा बैठक आयोजित
December 27, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी


समय पर कार्यो को पूर्ण नही करने वालो पर कलेक्टर ने जताई नाराजगी
वैढ़न,सिंगरौली।  कलेक्टर केवीएस चौधरी की अध्यक्षता में डीएम फण्ड से स्वीकृत निर्माण कार्यो की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई। जिसमें लोक निर्माण विभाग, पीएचई,आरईएस, पीआईयू, एमपीईबी, एमपीआरडीसी, डब्ल्यू आरडी के द्वारा कराये जा रहे कार्यो की समीक्षा की गई।
      समीक्षा बैठक के दौरान कलेक्टर के द्वारा डीएमएफ फण्ड से स्वीकृत निर्माण कार्यो की विभागवार समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान चितरंगी ब्लाक के विद्यालयो मे बनने वाली बाउन्ड्री वाल कोरसर, पतेरी, हरफोरी तथा देवसर ब्लाक के बरका, खड़ौरा, देवसर एवं बैढ़न ब्लाक के चितरवई खुर्द, खैराही, कनपुरा के विद्यालयो में निर्माण होने वाली बाउन्ड्रीवाल का कार्य अभी तक प्रारंभ नही कराया गया है। और न ही वर्क आर्डर जारी किये गये है। संबंधित निर्माण एजेन्सी के प्रति असंतोश जाहिर करते हुये कलेक्टर के द्वारा नाराजगी व्यक्त की गई। तथा कड़े निर्देश दिये कि यदि 28 दिसम्बर को वर्क आर्डर जारी नही किया तो संबंधित कार्यो को निरस्त करने की कार्यवाही की जायेगी।
     कलेक्टर ने निर्देश दिया कि जिन कार्यो को पूर्ण कर लिया गया है उनका उपलंब्ध प्रमाण पत्र फोटो ग्राफ सहित डीएमएफ शाखा में जामा करे। अन्यथा अगले बैठक में जिन विभागो द्वारा उपलंब्धता प्रमाण पंत्र जमा नही किया गया तो संबंधित के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। साथ ही चल रहे निर्माण कार्यो को समय सीमा मे गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराया जाना सुनिश्चित करे।
     कलेक्टर के द्वारा नल योजना सहित पेयजल की समीक्षा कर पीएचई विभाग के कार्यपालन यंत्री से प्रगति की जानकारी लेने के पश्चात निर्देश दिया गया कि डीएमएफ फण्ड से स्वीकृत नल जल योजना के कार्य में प्रगति लाये। आगामी वर्ष में नल जल योजना के माध्यम से पेयजल उपलंब्ध कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। साथ ही खनन कराये गये हैन्डपंम्पो सहित पूर्ण हो चुकी नल जल योजनाओं को फोटोग्राफ पोर्टल में अपलोड कराया जाना सुनिश्चित करे। वही प्रधानमंत्री सड़क योजना के कार्यो की समीक्षा किया जाकर निर्देश दिया गया कि चल रहे सड़क निर्माण कार्यो को समय पूर्ण किया जाये। उन्होने निर्देश दिया कि पुल एवं विद्यालयो, छात्रावासो की छतो की मरंम्मत हेतु जो राशि स्वीकृत की गई थी उन कार्यो के भी उपलब्धता प्रमाण पंत्र जमा करे। बैठक के दौरान समस्त विभागो के कार्यपालन यंत्री, सहायक यंत्री आदि उपस्थित रहे।