ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
दावोस में अंतरराष्ट्रीय उद्योग जगत के इन दिग्गजों से मिलकर MP के लिए निवेश जुटा रहे कमलनाथ
January 22, 2020 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश

भोपाल.  सीएम कमलनाथ ने 22 जनवरी को इंटरकॉन्टिनेंटल होटल ग्रुप के चेयरमैन पेट्रिक सेसकु से मुलाकात की. मुलाकात के दौरान सीएम कमलनाथ ने एमपी में पर्यटन स्थलों पर वर्ल्ड क्लास रिसोर्ट खोलने और वाइल्ड लाइफ रिसोर्ट  में निवेश को लेकर पेट्रिक से चर्चा की. इसके साथ ही सीएम कमलनाथ ने दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम  में शिरकत करने पहुंचे कर्नाटक के सीएम बी एस येदियुरप्पासे भी मुलाकात की.

मुख्य सचिव के साथ प्रतिनिधिमंडल भी दावोस यात्रा पर
इससे पहले 21 जनवरी को भी सीएम कमलनाथ ने कई दिग्गज हस्तियों के साथ मुलाकात की थी. सीएम ने हेल्थ केअर कंपनी नोवो नॉर्दसिक के सीईओ फार्सगार्ड जोर्गेनसेन के अलावा महिंद्रा एंड महिंद्रा के एमडी पवन गोयनका से भी मुलाकात की. इसके अलावा हेवलेट पैकार्ड एंटरप्राइजेस डिवीजन के सीईओ एंटोनियो नेरी, प्रॉक्टर एंड गैंबल के एशिया पैसिफिक मिडिल ईस्ट अफ्रीका के प्रेसिडेंट मंगेशवरन सुरंजन, दुबई की कंपनी वीपीएस हेल्थकेयर के प्रेसिडेंट और एमडी डॉ शमशीर वयलिल, विप्रो के सीईओ और एमडी अबीदाली नीमचवाला के साथ भी मुलाकात का भी कार्यक्रम है. आपको बता दें कि सीएम कमलनाथ के साथ मुख्य सचिव एस आर मोहंती समेत एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी दावोस यात्रा पर हैं.

उद्योगपतियों के साथ वन टू वन मुलाकात 

फोरम के दौरान सीएम कमलनाथ का अंतरराष्ट्रीय स्तर के 15 से ज्यादा उद्योगपतियों से वन टू वन मुलाकात करने और कुछ चुनिंदा उद्योगपतियों के साथ लंच का कार्यक्रम है. जिन सेक्टरों से जुड़े हुए उद्योगपतियों के साथ सीएम की मुलाकात हो रही है उनमें एफएमसीजी, हेल्थकेयर, फार्मास्युटिकल्स, ऑटोमोटिव्स और सूचना प्रौद्योगिकी के अलावा बड़े बिजनेस लीडर्स शामिल हैं.


दावोस में सीएम की चर्चा का एजेंडा ?
वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के दौरान सीएम कमलनाथ उद्योगपतियों को प्रदेश का निवेश मित्र बनाने, नीतियों और सुधारों के नतीजों के बारे में जानकारी देने तथा निवेश की संभावनाओं पर चर्चा कर रहे हैं. सीएम कमलनाथ की ओर से बीते एक साल में निवेश बढ़ाने को लेकर लिए गए फैसलों के बारे में भी उद्योगपतियों को जानकारी दी जा रही है, इनमें रियल स्टेट पॉलिसी, इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी, न्यू हैरिटेज होटल रिजॉर्ट रजिस्ट्रेशन पॉलिसी, स्टाम्प ड्यूटी रियायतें, एमएसएमई सेक्टर से एक्सपोर्ट को अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि देने, टूरिज्म पॉलिसी जैसे मुद्दे शामिल हैं. आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में निवेश को बढ़ावा देने के लिए बीते एक साल में 10 से ज्यादा संशोधन निवेश नीति में किए गए हैं