ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
CAA PROTEST : शायर राहत इंदौरी का पैग़ाम-हिंदुस्तान मोहब्बत का मुल्क है...
December 24, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश

इंदौर.नागरिकता संशोधन कानून CAA और NRC को लेकर देशभर में हो रहे विरोध और हिंसक प्रदर्शन (protest)  के बीच इंदौर (indore) से अमन का पैग़ाम आ रहा है. प्रसिद्ध शायर राहत इंदौरी (rahat indori) ये संदेश दे रहे हैं. वो लोगों से कह रहे हैं, हिंदुस्तान मोहब्बत का मुल्क है.यहां नफरत की बिलकुल गुंजाइश नहीं है. हिंदू-मुसलमान-सिख-ईसाई का भेद छोड़ो, आपस में प्यार करो.नागरिकता संशोधन कानून CAA और NRC के विरोध में देश भर में तीखी प्रतिक्रिया अब तक हो रही है. जगह-जगह विरोध प्रदर्शन जारी है. कई राज्यों में हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं. सरकारी और निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है. तनाव, हिंसा और वैमनस्य के इस माहौल से जाने माने शायर, गीतकार राहत इंदौरी बेहद आहत हैं. वो दुखी हैं. हैरान हैं लोगों के बीच पनप रही इस नफरत से. वो कह रहे हैं क्या हो गया है लोगों को.

नफरत के सफर में तुम भी थक जाओगे
राहत इंदौरी ने नफरत और एक-दूसरे के प्रति शक़ के इस माहौल के बीच कहा, मैं ये कहना चाहूंगा कि ये मुल्क मोहब्बतों का मुल्क है. नफरतों के लिए यहां बिल्कुल गुंजाइश ही नहीं है.नफरत का सफर एक कदम-दो कदम तुम भी थक जाओगे.हम भी थक जाएंगे. ये नफरतों की हवाएं कुछ दिन की हैं. ये हवा के झौंके की तरह आती हैं और चलीं भी जातीं हैं. मेरी खुदा से दुआ है कि ये देश फिर से उसी तरह साफ सुथरी हवा में सांसें ले.जो देश हमारे बुजुर्गों का था, जो देश हमारी कहानियों में था,जो पुराने लोगों ने सोचा था, जो आज का नौजवान सोचता है. ये तरक्की का मुल्क है और तरक्की करता रहे यही मेरी दुआ है.

राहत इंदौरी के ट्वीट की चर्चा
CAA और NRC को लेकर अभी हाल ही में किया गया राहत इंदौरी का ट्वीट भी चर्चा का विषय बना हुआ है. उसमें उन्होंने लिखा आप हिन्दू,मैं मुसलमान,वो सिख...यार छोड़ो. ये सियासत है.चलो इश्क करें. राहत इंदौरी ने इस ट्वीट के ज़रिए सर्वधर्म समभाव का संदेश देने की कोशिश की. इसे हैश टेग CAA और NRC भी किया. उन्होंने लिखा "say not hate" यानि घृणा मत करो. राहत इंदौर अपनी शायरी के ज़रिए भी हमेशा प्रेम,सदभाव और भाईचारे का संदेश देते हैं. आज के माहौल में उन्होंने अपने ट्वीट के जरिए भी यही संदेश देने का प्रयास किया है.