ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
बिजली इंजीनियर ने बिलों के भुगतान के बदले मांगी थी 1 करोड़ 80 लाख रिश्वत; 15 लाख लेते रंगेहाथ गिरफ्तार
December 18, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश

 

शहड़ोल. जिला मुख्यालय पर रीवा लोकायुक्त पुलिस ने बुधवार को बिजली विभाग के एक इंजीनियर को 15 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। रीवा लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र वर्मा ने बताया कि बिजली विभाग में पदस्थ जूनियर इंजीनियर राजेश कुमार तिवारी को सीधी के एक ठेकेदार से 10 लाख रुपए की नगदी और 5 लाख रुपए के चेक कुल 15 लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा गया। आरोपी की सीधी में पदस्थापना के दौरान वर्ष 2009 में ठेकेदार भानू प्रकाश कचेर ने ट्रांसफार्मर स्थापित करवाने विद्युत लाइन के विस्तार का कार्य किया था।

इस दौरान ठेकेदार द्वारा 37 करोड़ रुपए के कार्य किए गए थे। इनमें कुछ का भुगतान हो गया था तथा कुछ बिलों के भुगतान बाकी थे। इसके एवज में आरोपी इंजीनियर ने छह प्रतिशत कमीशन के रुप में 1 करोड़ 80 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। इसके बाद सौदा 15 लाख रुपए में तय हुआ, लेकिन ठेकेदार भानू द्वारा इस मामले की शिकायत लोकायुक्त पुलिस रीवा से कर दी गई।

मामले की जांच के बाद लोकायुक्त पुलिस ने बुधवार को सुबह सुनियोजित तरीके से आरोपी इंजीनियर को रिश्वत के रुप से 10 लाख रुपए की नगदी और पांच लाख रुपए के चेक लेते पकड़ा लिया। लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भ्रष्ट्राचार निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज कर लिया है।