ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
भारत बंद का वैढ़न बाजार में दिखा असर, कुछ समय के लिए बंद रही दुकानें
December 8, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • उर्जाधानी


काल चिंतन संवाददाता,
वैढ़न,सिंगरौली। जातिगत आरक्षण के विरोध में सपाक्स पार्टी सहित अनेकों संगठनों द्वारा भारत बंद का आह्वान किया गया था।  आरक्षण विरोधी समाजिक संस्थाओं एवं राजनीतिक पार्टियों तथा सपाक्स पार्टी द्वारा मांग की गयी है कि जातिगत आरक्षण की समाप्ति कर आर्थिक आधार पर पर सभी वर्गों के गरीबों के लिए आरक्षण होना चाहिए। एट्रोसिटी एक्स जैसे समाज को जाति के आधार पर बांटने वाले कानून के स्थान पर सभी नागरिकों के लिए समान कानून बनें। लोस व विस में आरक्षण की अवधि २०३० तक बढ़ा दिया गया है जिसमें संशोघन किया जाय। साथ ही मांग है कि निर्भया प्रियंका रेड्डी जैसे मामलों में इन्वेस्टिगेशन और ट्रायल की कार्यवाही एक माह में पूरी होकर फांसी से कम सजा का प्रावधान न हो। 
भारत बंद के इस कार्यक्रम में बैढ़न बाजार को भी 12:00 बजे तक बंद रखा गया इस बाजार को बंद बनाए रखने में सपाक्स पार्टी के संभागीय संयोजक श्री आरपी त्रिपाठी जी, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य श्री विश्व भरण द्विवेदी ,  जिला संयोजक श्री जितेंद्र मोदी जी, जिला अध्यक्ष श्री प्रवीण शुक्ला जी ,जिला संरक्षक श्री आर. आर .तिवारी जी,  श्री शशिदेव पाण्डेय जी जिला संरक्षक परशुराम सेना जिला सिंगरौली, जिला अध्यक्ष युवा मोर्चा सपाक्स पार्टी के अभिषेक जायसवाल जी, जिला मीडिया प्रभारी श्री संतोष शुक्ला जी,  जिला उपाध्यक्ष युवा मोर्चा आशीष चौबे जी,  जिला उपाध्यक्ष ग्रामीण श्री सुधाकर तिवारी जी,  नगर अध्यक्ष श्री नरेंद्र दुबे जी, जिला संयोजक युवा मोर्चा श्री मदन मोहन सिंह जी,  नगर अध्यक्ष युवा मोर्चा अंकित दुबे,  जिला अध्यक्ष परशुराम सेना आनंद पांडे जी, बरगवां मंडल अध्यक्ष परशुराम सेना प्रभूदास पांडे जी,   बैढ़न मंडल अध्यक्ष ध्रुव पांडे जी,  खुटार मंडल अध्यक्ष परसुराम सेना मनीष पांडे जी , अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा रा  के जिला महामंत्री राजेंद्र दुबे जी , विनोद दुबे ,खुटार मंडल उपाध्यक्ष परशुराम सेना विराट पांडेय,  मनीष चौबे जी, सूरज शुक्ला, परशुराम सेना जिला उपाध्यक्ष ओम प्रकाश पांडे जी,  राजेश गुप्ता, देवेंद्र मिश्रा,  त्रिदेव पांडे, पंकज दुबे, शशि तिवारी परशुराम सेना,  अजय तिवारी,  अनिल उपाध्याय महेश्वर दुबे, आदि सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे!