ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
भाजपा कार्यकर्ताओं पर 'दल बदल' का दबाव बनाने हेतु जबरन तोड़फोड़ की कार्यवाही करने का आरोप
January 4, 2020 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY

दमन की कार्यवाही पर चुप नहीं बैठेंगे, पुरजोर विरोध करेंगे
विजयवर्गीय की पत्रकारों से चर्चा
इन्दौर । भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और राज्य के पूर्व मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने शुक्रवार को शासन-प्रशासन पर आरोप लगाया कि वह भाजपा कार्यकर्ताओं पर 'दल बदल' का दबाव बनाने हेतु जबरन तोड़फोड़ की कार्यवाही कर रही है। दमन की इस कार्यवाही पर अब वे चुप नहीं बैठेंगे। इसका पुरजोर विरोध करेंगे। विजयवर्गीय आज पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। 
विजयवर्गीय ने साफ शब्दों में कहा कि हमारा भू-मापिफयाओं पर की जा रही कार्यवाही को समर्थन है, लेकिन अब शहर में राजनीतिक षड़यंत्र के तहत छांट-छांटकर भाजपा के लोगों पर कार्यवाही हो रही है। भाजपा की एक पार्षद प्रिया यादव को कांग्रेस में शामिल करने हेतु दबाव बनाया जा रहा है। उनका मकान तोड़ने की धमकी दी जा रही है। इसके साथ ही उनके पति पर आपराध‍िक मुकदमें दर्ज किये जाने का षड़यंत्र किया जा रहा है। इधर भाजपा के पार्षद चन्दूराव श‍िन्दे और समर्पित कार्यकर्ता के.के. गोयल के घरों पर भी बुल्डोजर चलाये जाने की धमकी दी जा रही है। 
:: इन्दौर में 167 कांग्रेस कार्यकर्ताओं के अवैध निर्माण :: 
विजयवर्गीय ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के अवैध निर्माण न तोड़े जाने का आरोप लगाते हुए कहा, "कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता, जिनकी संख्या 167 है, उन्होंने अवैध तरीके से दुकान, मकान और गुमटियॉं बना रखी है। इनकी सूची उनके पास है, जो बढ़ती जा रही है। उसके बाद सरकार को चुनौती दूंगा कि ये कौन लगते हैं। इसलिए प्रशासन इस मुहिम को राजनीतिक रंग देकर बदनाम न करे। उन्होंने कांग्रेस नेताओं और प्रशासनिक अमले को आड़े हाथों लेते हुए चेतावनी देते हुए कहा कि "हनीट्रैप के बाद ये कार्रवाइयां शुरू हुई हैं। मैंने कभी कमर के नीचे की राजनीति नहीं की और न ही करने की भविष्य में सोचता हूँ, पर मजबूरी में अगर करनी पड़ी तो वह भी करके बताऊंगा। इसलिए अधिकारी इस मुगालते में न रहें। हम विपक्ष में भी रहे, सरकार भी चलाई और वर्तमान में केंद्र में सरकार चला रहे हैं। इसलिए हम कमजोर नहीं हैं। यह बात राजनेता और अधिकारी भी समझ लें।