ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
असम-बंगाल में जो आग लगा रहे हैं, वो कौन हैं उनके कपड़ों से ही पता चल जाता है: मोदी
December 15, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY
दुमका
झारखंड में प्रधानमंत्री ने रविवार को दुमका में एक चुनावी रैली को संबोधित किया। जिसमें उन्होंने कहा कि हमारे देश की संसद ने नागरिकता कानून से जुड़ा एक महत्वपूर्ण बदलाव किया है। नागरिकता कानून का जिक्र किया। उन्होंने कानून को लेकर पूर्वोत्तर में जारी विरोध पर कहा कि जो लोग आग लगा रहे हैं वो कौन हैं। इसका पता उनके कपड़ों से ही चल जाता है।रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ये जनसमर्थन दिखा रहा है कि झारखंड में भाजपा को, कमल के फूल को, आप सभी का विशेषकर मेरे आदिवासी भाई-बहनों का भरपूर समर्थन मिल रहा है। शहीदों की धरती को, राष्ट्रभक्तों को, वीरों को जन्म देने वाली वीर माताओं की धरती को मैं नमन करता हूं।
प्रधानमंत्री ने कहा, 'हम आपके सेवक बनकर काम करते हैं, मैं आपका सेवक बनकर आपका काम करता हूं, आपके बीच आता हूं और अपने काम का हिसाब भी जनता जनार्दन के चरणों में रखता हूं। एक कार्यकर्ता के रूप में आदिवासियों के बीच रहकर उनकी सेवा करने का मुझे लंबे समय का अनुभव रहा है और मेरे जीवन बनाने में वो अनुभव भी बहुत काम आता है। इसलिए मैं और मेरे साथी आपकी तकलीफों को भली भांति समझते हैं।'उन्होंने कहा कि आपकी तकलीफों को दूर करने के लिए दिन-रात कोशिश करते हैं। आपकी सेवा के लिए, देश की सेवा के लिए, हमें ये समर्पण ही, हमें बाकी लोगों से बहुत अलग पहचान दिलाता है। झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस के पास झारखंड के विकास का न कोई रोडमैप है, न इरादा है और न भूतकाल में कभी कुछ किया है। अगर वो जानते है तो उनको एक ही बात का पता है, भाजपा का विरोध करो, मोदी को गाली दो। भाजपा का विरोध करते-करते इन लोगों को देश का विरोध करने की आदत हो गई है।नागरिकता कानून पर प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे देश की संसद ने नागरिकता कानून से जुड़ा एक महत्वपूर्ण बदलाव किया। इस बदलाव के कारण पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से जो वहां कम संख्या में थे, जो अलग धर्म का पालन करते थे, इसलिए वहां उन पर जुल्म हुए। उनके जीवन को सुधारने के लिए, इन गरीबों को सम्मान मिले इसलिए भारत की दोनों सदनों में भारी बहुमत से इन गरीबों के लिए नागरिकता का निर्णय किया है।