ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
अर्थव्यवस्था / जीडीपी ग्रोथ रेट जुलाई-सितंबर तिमाही में 4.5% रही, बीते 6 साल में सबसे कम
November 29, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY

 

नई दिल्ली. देश की जीडीपी ग्रोथ जुलाई-सितंबर तिमाही में घटकर 4.5% रह गई। यह 6 साल (26 तिमाही) में सबसे कम है। इससे कम 4.3% जनवरी-मार्च 2013 में रही थी। जीडीपी ग्रोथ मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की सुस्ती की वजह से ज्यादा प्रभावित हुई। इस सेक्टर की ग्रोथ (-)1% रही। पिछले साल सितंबर तिमाही में 4.9% थी। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने शुक्रवार को सितंबर तिमाही के आंकड़े जारी किए। इससे पहले अप्रैल-जून में ग्रोथ 5% और पिछले साल जुलाई-सितंबर में 7% रही थी। छमाही आधार पर देखें तो इस साल अप्रैल से सितंबर के 6 महीने में ग्रोथ 4.8% दर्ज की गई। पिछले साल इसी छमाही में 7.5% थी। 

किस सेक्टर में कितनी ग्रोथ?

सेक्टरजुलाई-सितंबर 2018 में ग्रोथअप्रैल-जून 2019 में ग्रोथजुलाई-सितंबर 2019 में ग्रोथ
एग्रीकल्चर4.9%2%2.1%
माइनिंग2.2%2.7%0.1%
मैन्युफैक्चरिंग6.9%0.6%-1%
इलेक्ट्रिसिटी, गैस, वाटर सप्लाई8.7%8.6%3.6%
कंस्ट्रक्शन8.5%5.7%3.3%
ट्रेड, होटल, ट्रांसपोर्ट, कम्युनिकेशन6.9%7.1%4.8%
फाइनेंशियल सर्विसेज7%5.9%5.8%
पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन8.6%8.5%11.8%

लगातार छठी तिमाही ग्रोथ में गिरावट

तिमाहीजीडीपी ग्रोथ
जनवरी-मार्च 20188.1%
अप्रैल-जून 20188%
जुलाई-सितंबर 20187%
अक्टूबर-दिसंबर 20186.6%
जनवरी-मार्च 20195.8%
अप्रैल-जून 20195%
जुलाई-सितंबर 20194.5%

'तीसरी तिमाही से ग्रोथ बढ़ने की उम्मीद'
मुख्य आर्थिक सलाहकार के वी सुब्रमण्यन का कहना है कि देश की अर्थव्यवस्था का आधार मजबूत है। तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर) से जीडीपी ग्रोथ बढ़ने की उम्मीद है।

आरबीआई रेपो रेट 0.25% और घटा सकता है: रिपोर्ट
रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक आर्थिक विकास को रफ्तार देने के लिए आरबीआई 3-5 दिसंबर को होने वाली मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक में रेपो रेट में फिर से 0.25% कटौती कर सकता है। ऐसा हुआ तो ये रेपो रेट में लगातार छठी बार कटौती होगी। अर्थव्यवस्था में सुधार की कोशिशों में सरकार ने भी पिछले महीनों में कॉर्पोरेट टैक्स घटाने समेत कई कदम उठाए।

भाजपा के लिए जीडीपी 'गोडसे डिवाइसिव पॉलिटिक्स': कांग्रेस
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला जीडीपी ग्रोथ में गिरावट को लेकर सरकार पर कटाक्ष किया है। उन्होंने कहा- जीडीपी ग्रोथ 6 साल के निचले स्तर पर पहुंच गई है, फिर भी भाजपा जश्न क्यों मना रही है? भाजपा के लिए जीडीपी 'गोडसे डिवाइसिव पॉलिटिक्स है। सुरजेवाला ने भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर के बयान के संदर्भ में ये टिप्पणी की। प्रज्ञा ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहा था, हालांकि उन्होंने शुक्रवार को लोकसभा में दो बार माफी मांग ली।