ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
...और पकड़ा गया नशे का बादशाह
January 5, 2020 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश


- जनप्रतिनिधियों के विरोध के बाद एक्शन में आई पुलिस
शहडोल। स्थानीय जन प्रतिनिधियों द्वारा नशे के कारोबारियों के विरुद्ध ठोस कार्यवाही की मांग उठाने के बाद पुलिस प्रशासन ने इस मामले में सख्ती बरतनी शुरू कर दिया है। इसके तहत कोतवाली पुलिस ने भी सक्रियता दिखाते हुये बीती रात्रि दो लोगों से 03 किलो 500 ग्राम गांजा जब्त किया है। 
थाना प्रभारी रावेन्द्र द्विवेदी से प्राप्त जानकारी के मुताबिक 05 जनवरी 2020 की रात्रि 12.10 बजे इतवारी मोहल्ला शहडोल निवासी मो. सलीम उर्फ बादशाह पिता हबीब खान उम्र 35 वर्ष को 02 किलो गांजा के साथ गिरफ्तार किया गया है। आरोपी उक्त गांजा अवैध रूप से विक्रय करने के उद्देश्य से रखा था। जब्त किये गए गांजा की कीमत 14 हजार रुपये बताई गई है। इसी प्रकार कोतवाली थाना अंतर्गत 05 जनवरी की ही रात्रि 01 बजे पुरानी बस्ती शहडोल निवासी निकेश तिवारी पिता स्व. रामाधार तिवारी उम्र 54 वर्ष को अवैध रूप से 01 किलो 500 ग्राम गांजा परिवहन करते पकड़ा गया है। पुलिस ने इस आरोपी के पास से 10,500 रुपये कीमत का गांजा एवं एक पल्सर मोटर साइकल क्र. एमपी 18 एमएन 6337 सहित कुल 01 लाख 05 हजार रुपये का मसरूका जब्त किया है। बताया गया है कि पकड़े गए दोनो आरोपियों के विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट की धारा 8/20 के तहत कार्यवाही की गई है। 
गौरतलब है कि नगर पालिका के कई पार्षदों सहित अध्यक्ष उर्मिला कटारे, उपाध्यक्ष कुलदीप निगम, पार्षद सुफियान खान, दानिश, समीर खान, इस्हाक खान, जितेन्द्र सिंह, शक्ति लक्षकार, शीतल पोद्दार, अश्वनी शर्मा, प्रभात पाण्डेय, अमित सोनी, जवाहर कोल, घनश्याम जायसवाल, गोपाल रत्ननम आदि ने पुलिस अधीक्षक को नशे के दुकानों की सूची सौंपकर कार्यवाही की मांग की थी। दरअसल बीते दिनों पार्षद पुत्र अक्षत की निर्मम हत्या और उसके बाद के घटनाक्रम से यह बातें सामने आई थी कि अक्षत की हत्या नशे की हालत में की गई थी। यह बात भी किसी से छिपी नहीं है कि जिला मुख्यालय के विभिन्न वार्डो में बीट प्रभारियों की शह पर नशीली दवाएं खुलेआम बिक रही हैं। इसी बात को लेकर पुलिस अधीक्षक को दिए गये पत्र में जनप्रतिनिधियों ने लगातार बढ़ रहे नशे और उसकी बिक्री पर चिंता जताई थी। पत्र में कुछ स्थानों का उल्लेख भी किया गया है जहां गांजा, कोरेक्स, नाईट्रोवेट व नशे के इंजेक्शन खुलेआम बिक रहे हैं। इनमें दरभंगा चौक, डॉक्टर अली के सामने, नया बस स्टैण्ड, सोहागपुर, पौंनाग तालाब, गढ़ी बाजार, पुरानी बस्ती, अण्डर ब्रिज, घरौला मोहल्ला जैसे स्थानों की सूची पुलिस अधीक्षक को सौंपी गई थी।