ALL उर्जाधानी देश विदेश राजनीति मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश मनोरंजन साहित्य लेख
 आटो ड्राईवर ओर ठेला लगाने वाले यूवक कर रहे थे गांजा तस्करी
December 13, 2019 • R. K. SRIVASTAVA / NIRAJ PANDEY • मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश


उडीसा से कम कीमत मे लाकर राजधानी सहित आसपास के शहरो के तस्करो को करते थे सप्लाई
क्राइम ब्रांच तीन गांजा तस्करो को  दबोचा, पांच लाख का 51 किलो नशीला माल बरामद
भोपाल। राजधानी की क्राइम ब्रांच टीम ने नशीले पर्दाथो की तस्करी करने वाले आरोपियो के खिलाफ की जा रही कार्यवाही मे बडी सफलता हासिल की है। टीम ने मुखबिर से मिलीर सूचना के आधार पर 3 आरोपियो दीपक साहू , हेमराज राय ओर अब्दुल जुबेर को पांच लाख कीमतक के 51 किलो 250 ग्राम गांजे के साथ सुभाष नगर फाटक के पास, सन पैलेस होटल के सामने से गिरफ्तार किया है। आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस की धाराओ के तहत कार्यवाही की गई है। अधिकारियो ने जानकारी देते हुए बताया कि क्राइम ब्रांच द्वारा पूर्व मे नशीले पदार्थ के तस्करों से की गई पूछताछ के आधार सूचना मिली की दीपक साहू पिता भोगचंद साहू, निवासी कल्याण नगर के पास, थाना छोला मंदिर, भोपाल गॉजे का मुख्य तस्कर है, जो मुख्य रूप से आंध्रपदेश, उड़ीसा के गांजा तस्कारों से कमीशन के आधार पर गांजा अपने साथियो जरिये बुलाकर भोपाल एवं भोपाल के आस-पास रहने वाले बड़े एवं फुटकर गांजा तस्कारो को बेचने का काम करता है। टीम ने जब आगे की पडताल कि तब मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि आरोपी दीपक साहू एवं उसके अन्य दो साथी हेमराज राय उर्फ मोनू पिता राम सिंह राय निवासी पीतल मील चौराहा, हरी फाटक, विदिश एवं अब्दुल जुबेर पिता अब्दुल सईद निवासी निशातपुरा शुक्रवार शाम 6 बजे के गांजे कि खेप लेकर आटो से होशगाबाद रोड़ से होते हुए जिंसी चौराहा जहाँगीराबाद की तरफ जाएंगे। टीम को मुखबिर ने यह भी बताया कि ऑटो के पीछे आरोपी दीपक काले रंग की बिना नंबर बाईक चल रहा है। ओर ऑटो एवं दो पहिया वाहन पर बैगो में बड़ी मात्रा में गांजा रखा हुआ हैं। इस सूचना पर क्राइम ब्रांच की टीम टीम द्वारा सुभाष नगर फाटक पर घेराबदंी की गई। टीम ने मुखबिर द्वारा बताये गये ऑटो नंबर व आरोपियों को हुलिये के आधार पर घेराबंदी कर हिरासत मे ले लिया। क्राईम ब्राच टीम द्वारा शुरुआती पुछताछ मे तीनों की  पहचान दीपक साहू, हेमराज राय एवं अब्दुल जुबेर के रुप मे हुई। इसके बाद पुलिस ने जब उनसे सख्ती से पूछताछ की तो आरोपियो ने बताया गया कि ऑटो एवं स्कूटी में रखे हुए बैगो में गांजा है, जिसे भोपाल एवं भोपाल के आस-पास गांजे की तस्कीर करने वाले अन्य तस्करो को उनके द्वारा  सप्लाई किया जाता हैं। टीम ने आरोपियों के कब्जे से गांजा बरामद होने पर उनके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धाराओ के तहत मामला दर्ज कर उन्हे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने गांजा लाने के लिये उपयोग में लाये जाने वाले ऑटो एवं स्कूटी को भी जप्त किया है। अधिकारियो के अनुसार तस्करो से पुछताछ मे खुलासा हुआ कि आरोपी मुख्य रूप से आंध्रपदेश, उड़ीसा के गांजा तस्कारों से कमीशन के आधार पर गांजा अपने एजेंटों के माध्यम से बुलाकर भोपाल एवं भोपाल के आस-पास रहने वाले बड़े एवं फुटकर पर गांजा तस्करो को बेंचने का काम करते हैं। आरोपी उड़ीसा एवं आंध्रप्रदेश के तस्करों से 6 हजार से साढे 6 रुपये किलो के हिसाब से गांजा लेकर आते ओर भोपाल एवं आस-पास शहरो मे 8 से  9 हजार रूपये किलो के हिसाब से सप्लाई करते है। शिंकजे मे आये तस्कर हर महीने लगभग 2-3 बार बाहरी राज्यों से गांजा लेकर आते हैं। इस तरह से ये प्रत्येक माह लगभग सौ से सवा सौ किलो गांजा की सप्लाई कर रहे थे। पकड़े गये आरोपी तस्करी को बड़े ही शातिर तरीके से अंजाम देते थे। अफसरो ने बताया कि सभी आरोपी अपने-अपने काम की आड़ में गांजा बेंचने का काम करते थे। जिससे किसी को उनपर संदेह न हो। पुलिस आरोपियों को रिमांड पर लेकर उनसे आंध्रपदेश व उडीसा के बड़े तस्करों के संबंध में पूछताछ करेगी। वही पूछताछ के आधार पर बड़े एंव फुटकर तस्करों की धरपकड़ के प्रयास किये जायेगे। पुलिस ने बताया कि पकडे गये तस्करो मे  दीपक साहू का कोई अपराधिक रिकार्ड नहीं है, ओर वो खूद का लोडिंग ऑटो चलाता है। वही  हेमराज रायका भी कोई अपराधिक रिकार्ड नहीं है। ओर वो सब्जी का ठेला लगाता है। तीसरा आरोपी  अब्दुल जुबेर के खिलाफ कोई अपराधिक रिकार्ड नहीं मिला है। वो ऑटो ड्रायवरी का काम करता है।
जुनेद/ 13 दिसंबर